VPN क्या है? इससे Block Website और Apps को यूज़ करे

अगर आप Internet के बारे में अच्छे से जानते हैं तो आप VPN के बारे में भी जानते ही होंगे परंतु आपमें से ऐसे बहुत से ऐसे लोग है जो VPN के विषय से पूरी तरह से अनजान है और VPN Kya Hai? इस विषय को लेकर Internet पर काफी Search करते है या Youtube पर वीडियो देखते है की VPN क्या है? (What Is VPN in Hindi)

VPN कैसे काम करता है?, VPN क्यों जरुरी है? और VPN का कैसे उपयोग करे? तो हमने सोचा की VPN के विषय में एक ऐसी संपूर्ण जानकारी इस पोस्ट द्वारा आपको दे जिससे आप आसान शब्दों में जान पाये की आखिर VPN Kya Hai?

जैसा कि आप जानते है कि अलग अलग देश मे वहां की सरकार द्वारा कई ऐसी Website Block कर दी गयी है कई सारी Apps को भी Block कर दिया हैं जिससे देश और समाज पर गलत असर पड़ता है। जैसे कि भारत ने कई सारी Porn Website पर हाल ही में प्रतिबंध लगाया है और ऐसी बहुत सी वेबसाइट है जो ब्लॉक है जिसको आप भारत मे रहते हुये विजिट नही कर सकते,

हा अगर आप इसके लिए VPN का सहारा लेते है तो मुमकिन हो जाता है और आप उन साइट को विजिट कर सकते हो जो ब्लॉक है। पर सवाल वही है कि VPN क्या है? और VPN कैसे काम करता है।

VPN क्या है ? (What Is VPN In Hindi)vpn-kya-hai

VPN Kya Hai – VPN एक ऐसी तकनीक है जिससे हम अपना Private Data को आसानी से सुरक्षित रख सकते है और Hacker से बच सकते है साथ साथ हम VPN द्वारा दुनिया के किसी भी नेटवर्क को आसानी से एक्सेस कर सकते है। जैसे हम हमारे घर पर हमारे Device के बीच एक Wifi का नेटवर्क बनाये और उनके बीच किसी इनफार्मेशन का आदान प्रदान करे तो वह एक हमारा Private Network होता है जिससे हम क्या इनफार्मेशन शेयर करते है उसका सिर्फ हमे ही पता होता है बस ऐसे ही VPN भी एक प्रकार का Private Network होता है जिससे हम कौनसी Website ओपन कर रहे है इंटरनेट पर क्या काम कर रहे है इसकी जानकारी ISP (internet Service Provider) को पता नही चल पाती।

VPN का फुल फॉर्म क्या है? (What is The Full Form Of VPN)

VPN का पूरा नाम (Full Form) होता है Virtual Private Network.

VPN कैसे काम करता है?

जैसा कि हमने पहेले बताया कि VPN हमारा Location और IP Address छुपाकर किसी दुसरे लोकेशन (स्थान) का कनेक्ट करता है और Google पर block किये गये websites को ओपन करने में मदद करता है।

हमारे Device को Internet सेवा प्रदान करता है ISP याने की हमारे पास जिस कंपनी की सिम है वह, Vodafone, Jio, Airtel, Idea ये सब ISP (Internet Service Provider) है। तो अगर हम किसी वेबसाइट को सर्च करते है तो हमारी Request पहेले जायेगी उस ISP के पास और फिर वह ISP उस नेटवर्क को खोजेगा जो हम सर्च कर रहे है, और फिर खोजने के बाद उसका IP Address हमारे सामने लाता है और फिर हम उस वेबसाइट को देख सकते है जिसको हमने Search किया है।

अब उस ISP को अपने देश की government अगर ये कहे कि किसी website को Block करना है यानी कि ISP से सरकार ये कहे कि अगर आपके पास इस प्रकार की वेबसाइट की Request आने पर यूजर को मत दिखाना तो ISP उस यूजर को वह वेबसाइट नही दिखाती और कुछ Error का मैसेज दिखाई देता है।

  1. VPN (Virtual Private Network) का काम होता है हमारी IP एड्रेस, हम किस डिवाइस का उपयोग कर रहे है और हम किस जगह से है इन सारी इनफार्मेशन को छुपा देता है फिर हम अगर किसी ब्लॉक वेबसाइट को सर्च करते है तो ISP को पता ही नही चल पाता कि यूजर कौन है और कहासे है, और VPN उस देश के ip address से उस वेबसाइट को ओपन करवाता है जिस देश मे वह वेबसाइट ब्लॉक नही है। और हम वह Website आसानी से Access कर सकते है। और हमारी जानकारी जो पहेले ISP के पास जाती थी उसको Hide भी कर सकते है।

VPN के प्रकार ( Types Of VPN In Hindi ):

उपयोग और उदेश्य को देखते हुये VPN को अलग अलग तीन प्रकार में बाटा गया है। आइये जानते है Tyeps Of VPN के बारे में।

  1. PPTP VPN :

इस प्रकार का वीपीएन (VPN) एक बहुत ही सामान्य है, इसका पूरा नाम Point-to-Point Tunneling Protocol है। PPTP VPN में कोई भी यूजर Internet द्वारा VPN Password का उपयोग करके VPN Network को Connect कर सकता है। इस प्रक्रिया को करने के लिए यूजर को किसी भी प्रकार के अतिरिक्त Hardware की जरूरत नहीं होती। इस प्रकार के VPN के Features सस्ते Add-On-Software के रूप में उपलब्ध होते है। इस प्रकार के VPN का केवल एक ही नुकशान है की वह यूजर को सुरक्षा प्रदान करने में असफल रहता है। यह किसी अन्य सुरक्षा उपायों पर निर्भर रहता है।

2. Site-to-Site VPN :

इस प्रकार का VPN भी PPTP जैसा ही होता है, Site-to-Site VPN में समर्पित लाइन (Dedicated Line) का उपयोग नहीं होता, इसमें किसी एक ही संगठन के अलग अलग साइट्स से VPN बनाया जाता है जिसमे हर एक साइट का अपना एक नेटवर्क होता है। इस प्रकार के VPN को रूटिंग, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन दोनों एंड पर रूटर में बनाया जाता है जो PPTP के प्रकार के बिलकुल विपरीत होता ह और वह Hardware और Software पर आधारित होता है।

3. IPsec :

इस प्रकार का VPN Remote Site से Cantral Site पर टनल सेटअप करता है। इसे एक भरोसेमंद प्रोटोकॉल माना जा सकता है। इसके नाम से ही पता चलता है की इस प्रकार के VPN को IP Traffic के लिए बनाया गया है। इस VPN का सबसे बड़ा गैरफायदा ये है की इसके लिए काफी महेंगे और समय लेनेवाले Client Installation की जरूरत होती है।

VPN Kaise Use Karte Hai

दोस्तों अभी तक आपने जाना की VPN क्या है ? ( What Is VPN In Hindi ) और VPN कैसे काम करता है ? ( how to work vpn in hindi ) और साथ साथ VPN के प्रकार के बारे में भी जाना और अब हम आपको समझायेंगे की VPN को यूज़ कैसे करते है ? ( how to use vpn ) तो आइये बिना समय बर्बाद किये जानते है।

VPN को हम दो प्रकार के OS में में इस्तेमाल कर सकते है एक तो Android Mobile में और दूसरा है अपने Laptop या PC में जो Window OS पर काम करता है। इन दोनों के बारे में आइये विस्तार से समझे।

मोबाइल में VPN कैसे इस्तेमाल करे? ( How To Use VPN In Mobile )

आज के समय में बहुत सी ऐसी Application है जिसको इनस्टॉल कर आप आसानी से फ्री में VPN अपने Android Device में यूज़ कर सकते है पर हम आपको एक ऐसी App के बारे में बताएँगे जिसका उपयोग करना बेहद आसान है तो आइये जाने Mobile Me VPN Kaise Use Kare? इसके लिए हम कुछ स्टेप्स का उपयोग करेंगे जिससे आपको समझ में आसानी हो।

Step 1: सबसे पहले आपको Google Play Store पर जाना होगा और Search Bar में टाइप करना होगा Touch Vpn अब आपके सामने ऐसी बहुत सी App आएगी आपको उसमे से Best VPN की Application इनस्टॉल करना है।

Step 2: Install होने के बाद App को ओपन करे और अपनी मनचाही लोकेशन का चयन करें और नीचे की तरफ आपको Connect का बटन दिखेगा उसपर क्लिक करे।

इतना करते ही आपका Device उस देश के हिसाब से कनेक्ट हो जाएगा जिसका आपने चयन किया था।

तो आप इन Step के माध्यम से समझ गये होंगे कि आप कैसे अपने मोबाइल में VPN सेट कर सकते हो।

लैपटॉप या कंप्यूटर में VPN कैसे इस्तेमाल करे? ( How To Use VPN In PC Or Laptop )

Step 1: अगर आप अपने लैपटॉप या कंप्यूटर में Opera Browser चलाते है तो उसमें Setting में VPN को On करने का ऑप्शन ऑन करे और आप VPN का मजा आराम से ले सकते हो।

Step 2: परन्तु अगर आपके Opera Browser में VPN का option नही है तो आपको अपने System में Opera Developer Software को Install करना होगा।
Opera Developer Software को डाउनलोड करने के लिये यहाँ क्लिक करे।

Step 3: Opera Developer Software के पेज पर जाकर आपको अपने System के अनुसार सॉफ्टवेर को Download कर इनस्टॉल करना है।

Step 4: install होने के बाद आप उसे ओपन करे और Side Menu में जाकर Setting में जाये।

Step 5: Setting में जाकर आपको Privacy & security में जाना होगा और वहाँ पर आपको VPN के ऑप्शन को Enable करना होगा।

इस तरह आप अपने Laptop या Computer में VPN का आसानी से उपयोग कर पाओगे।

VPN हमारे लिए कितना सुरक्षित है?

VPN को यूज़ करने के लिए कई सारी Android Application और chrome extensions है जिसको आप Install कर आसानी से अपने Device को चुटकियो में VPN से कनेक्ट कर सकते हो। पर क्या आपको पता है की VPN को यूज़ करना कितना सुरक्षित है? VPN का उपयोग हमारे लिए कितना फायदेमंद है आइये अब आगे जानते है।

हम VPN का दो तरीको से उपयोग कर सकते है एक तो Free में और दूसरा Paid यानि की इसका प्लान लेकर Username और Password से Enter होकर। दोनों में अंतर् ये है की इन दोनों प्रकार के Features अलग अलग होते है। आइये जानते है इन दोनों तरीको के बारे में।

Free VPN:

बहुत से ऐसे Sofware है जो फ्री में VPN की सुविधा प्रदान करते है, जिमसें आपको बिना पैसे दिए किसी भी देश मे बैठकर उस देश की Block Website Access कर सकते है, इस प्रकार के VPN में आपका पूरा Data की आप कौनसी वेबसाइट पर विजिट कर रहे हो, अगर उस वेबसाइट पर यदि कोई Username और Password से आप Login करते हो तो वह क्या है ये सब Data आप अपने ISP से तो आसानी से छुपा लोगे परंतु वही डेटा VPN Service देने वाले के पास रहेगा और उस Data का वह गलत इस्तेमाल भी कर सकता है,

आपकी Banking की सारी जानकारी अब सुरक्षित नही रहेगी और हो सकता है आपको इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकता है उस सारे Data को VPN सेवा प्रदान करने वाला किसी अन्य व्यक्ति को बेच दें और फिर उसका गलत उपयोग हो। इसलिए हमे फ्री वीपीएन का उपयोग बिलकुल भी नही करना चाहिए।

Free VPN की तुलना में ये काफी हद तक सही है इसमें अगर आप पैसे देकर VPN Service को Purchase करते हो तो आपको आपके Data को लेकर कोई भी तकलीफ नही होगी और आप आराम से अपना काम कर पाओगे और ISP और सरकार की नजर से बचे रहोगे, पर Paid VPN के भी कुछ नियम और शर्ते है,

आप उनकी शर्तो को ध्यान से पढ़े तो वह कहते है कि हम आपको कहते है कि अगर उनकी सरकार किसी कारणवश उनसे Data की मांग करती है तो वह Data वे सरकार को दे सकती है। कुल मिलाकर आप VPN के साथ अगर सही काम कर रहे है तो इसके लिए आपको कोई परेशानी नही होगी परंतु अगर आप सोच रहे हो कि VPN के सहारे आप गलत काम करोगें और बच जाओगे तो ये मुश्किल होगा।

VPN के फायदे और नुकशान:

अभी तक आपने जाना कि VPN क्या होता है ?, VPN का यूज़ कैसे करे ?, और क्या VPN सुरक्षित है या नही?, अब हम VPN को यूज़ करने के कुछ फायदे और नुकशान के बारे में समझेंगे तो आइए जानते है विस्तार से।

VPN के फायदे:

  • Paid VPN का उपयोग करके आप अपने data को सुरक्षित कर सकते है और Hack होने से बच सकते है।
  • VPN द्वारा आप कोई भी Block Website Access कर सकते है।
  • VPN के द्वारा आप अपनी IP और Location की जानकारी आसानी से छुपा सकते हो।
  • VPN को यूज़ करना आसान है।

VPN के नुकशान:

  • अगर आप Free VPN का उपयोग करते हो तो आपका डाटा की सुरक्षा पर सवाल उठ सकते है।
  • Free VPN में बहुत से Ads आपको परेशान कर सकते है।
  • अच्छे कनेक्शन होते हुये भी ब्राउज़िंग स्पीड कम हो सकती है

आज VPN के बारे मे सिखा

मुझे उम्मीद है कि मैं आपको VPN क्या हैं और इसे किस लिये यूज़ करते हैं, आप समझ गये होगे, अगर आपके मन मे VPN को लेकर किसी तरह का सवाल हैं तो आप हमे Comment कर पता कर सकते है हम आपको जल्द से जल्द उसका जवाब देगे।

आपको यह Post कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले. मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए,

कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि WhatsApp Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये।

The Power OF Digital INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.