WiFi Kya he? Wifi कैसे काम करता है?

हेलो दोस्तो, हमने अक्सर ओपन WiFi या किसी भी प्रकार के Secure Wifi का उपयोग कर Internet चलाया होगा,जैसा कि आप सभी जानते है कि बहोत सी बड़ी बड़ी कंपनी अपने वर्कर को काम करने की सहूलियत के लिये या फिर बड़ी बड़ी कॉलेज वगैरा अपने विध्यार्थीयो के लिये वाईफाई जैसी सेवा प्रदान करते है, और आज के दौर में हर कोई वाईफाई का उपयोग अच्छे से और आसानी से करता है,पर आप मे से शायद ही कोई जानता हो कि WiFi Kya he?? और Wifi काम कैसे करता है? तो आइये इस पोस्ट में हम इसी विषय पर चर्चा करते है।

सच कहे हम wifi का मतलब नहीं जानते हुये भी इस शब्द से भलीभाती परिचित है, अगर किसी का intrnet data ख़त्म हो चूका है तो वह दूसरे व्यक्ति के data से Wifi के जरिये data को अपने मोबाइल में ट्रांसफर कर सकता है,और अच्छी स्पीड के साथ इंटरनेट का मजा भी ले सकते है, आज कल सार्वजानिक जगह, बस ,ट्रैन में हमें फ्री वाईफाई की सगवड मिल जाती है,आइये जानते हे wifi के बारे में विस्तार से की WiFi Kya he?।

WiFi Kya he?

आपको बता दे की Wifi एक शार्ट नाम है, वाईफाई का पूरा नाम “Wireless Fidelity” है,वाईफाई एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जिसमें रेडियो वेव की मदद से नेटवर्क कनेक्टिविटी दि जाती हैं। वाईफाई की मदद से दो माध्यमों को बिना किसी तार से जोड़ा जा सकता है,और उन दोनों के बीच किसी भी इन्फॉर्मेशन को भेजा जा सकता है,Wifi वायरलेस नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी का एक ऐसा नाम है जो High Speed Internet और Network Connection के लिए Radio Signal का उपयोग करता है।
WiFi का अविष्कार का John O Sullivan ने किया था. उनको इसके लिए सन 1992 से 1996 तक का समय लगा

WiFi एक तरीके का Wireless Networking Protocoll होता है, जिसमे Radio Waves द्वारा Networking Connectivity Provide की जाती है। WiFi IEEE 802.11 Standard Base पर काम करती है। परंतु IEEE 802.11 Standard है क्या?

IEEE 802.11 Standard क्या है ?

Institute of Electrical और Electronics Engineers ( IEEE ) ने 1997 में पहला WLAN Standerds का निर्माण किया था, जिसे IEEE 802.11 कहा गया। शूरूआत में इसकी DATA Speed 2mbps थी ।

IEEE 802.11a Standerd का निर्माण सन 1999 में किया गया । इसकी Data Speed 54 mbps और फ्रीक्वेंसी 5 GHZ होती है।

उसके बाद उसी साल 1999 में ही IEEE 802.11b Standerd का निर्माण किया । इसकी
डाटा स्पीड 11 Mbps और फ्रीक्वेंसी 2.4 GHZ होती है ।

फिर सन 2003 में IEEE 802.11g Standerd का निर्माण किया गया था। इस में Data Speed 54 Mbps है और Frequency 2.4 GHZ है |

2009 में IEEE 802.11n Standerd का निर्माण किया गया | इस में Data Speed 300 Mbps है और Frequency 2.4 GHZ है |

IEEE 802.11ac जो की Newest Generation Standerd है | इसका निर्माण 2013 में किया गया | इसकी 5 GHZ Frequency पर 1300 से ज्यादा Data speed है और 2.4 Frequency पर 450 Mbps से ज्यादा Data Speed है |

Wifi के फायदे क्या है?(benefits of WiFi)

दोस्तो अब हम Wifi के कुछ फायदों के बारे में बात करेंगे।

1.Wireless :- Wifi का पहला फायदा ये है कि इसके इस्तेमाल करने पर आपको वायर से छुटकारा मिल जाता है, आप अपने लैपटॉप या मोबाइल को वाईफाई की मदद से बिना तारों के वाईफाई की रेंज तक कही पर भी इंटरनेट इस्तेमाल बहोत आसानी से कर सकते हैं।

2.High Speed :- आप wifi के साथ अच्छी Speed और लंबी दूरी तक काम कर सकते हो, Bluetooth के मुकाबले वाईफाई की स्पीड कई गुना तेज होती है।

3.Battery Life :- Wifi में सिग्नल मजबूत होने की वजह से डिवाइस में लगी बैटरी की खपत कम होगी ,और एक अच्छा बैटरी बैकअप मिल जाता है, और ज्यादा चलती है।

WiFi कैसे काम करता है?(How Works WiFi)

Wifi का उपयोग आजकल हम Computer, Laptop, Mobile, Tablets, Digital Camera, Smart TV, Digital Audio Players और Modern Printers में देख रहे है, और हम भी वाईफाई का उपयोग करते ही है परंतु क्या आप जानते हो की वाईफाई कैसे काम करता है?| तो चलिए विस्तार से जानते है।

WiFi Technology में Router की मुख्य भूमिका होती है, Router को Phone या Cable द्वारा Connect किया जाता है, Internet Service Provider द्वारा Binary Signals भेजा जाता है जिसको Router द्वारा Receive किया जाता है। इन Binary Signals को Router की मदद से Radio Signals में Convert किया जाता है। इन Radio Signals को हवा के माध्यम से Laptop, Smartphone, Tablets या Game Console पर Receive करके Internet का उपयोग किया जा सकता है।

कभी कभी इन Radio Signals का हम आसानी Receive कर उपयोग कर सकते है, तथा ऐसे भी Radio Signals होते है जिसको Password की मदद से Secure किया होता है,और केवल वही Device इन Radio Signals को Receive कर पायेगा जिसके पास Password होता है।

आसान भाषा में कहे तो Internet Service Provider द्वारा दिये गये Data को Router की मदद से Radio Signals में कन्वर्ट किया जाता है, और उसे हवा में छोड़ दिया जाता है,उसका एक सिमित एरिया होता है जहां तक वह Radio Signals पहोंच सकते है, उस सिमित एरिया में Radio Signals Receiver द्वारा उन Radio Signals को फिर से Data में कन्वर्ट किया जाता है, और उस Device में हम आसानी से Internet चला सकते है।

निष्कर्ष:

दोस्तों इस पोस्ट में हमने आपको बताया की WiFi Kya he?, Wifi के फायदे क्या है?, wifi कैसे काम करता है?, आशा करता हु हमारी हे वाईफाई सम्बन्धित जानकारी आपको जरूर पसंद आयी होगी,अगर इस विषय के बारे में कोई सवाल है या आप किसी अन्य विषय पर कुछ जानना चाहते है तो इसके लिये आप हमे कमेंट कर सकते हो,हम आपके हर सवाल का बहोत ही जल्द जवाब देंगे, इसी के साथ आज्ञा लेना चाहूंगा फिर मिलेंगे किसी अन्य टॉपिक पर तब तक के लिए जय हिंद ,वंदे मातरम।

कुछ अन्य बहेतरीन जानकारिया।

इन तरिको से इंटरनेट से पैसे कमाये-

 

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.