NOTA kya hai ? Indian Election में क्या है NOTA का महत्व? full details.

अक्सर आपने Nota का शब्द सुना ही होगा परन्तु क्या आप जानते है की आखिर Nota kya hai ? और ये कहाँ पर उपयोग होता है? अगर नहीं तो इस पोस्ट द्वारा हम आपको नोटा की विषय में विस्तार से बताने वाले हे तो चलिए बिना समय बर्बाद किये जानते हे की आखिर Nota kya Hota Hai Hindi Me.

Election, एक बहुत हि important और Complicated subject है। India जैसे democracy देश के लिये तो ये पल किसी उत्सव से कम नहीं होते। देश का हर नागरिक चाहता है कि, देश में ऐसी सरकार बने। जो देश के हर problem को political मुद्दा बनाना छोड़कर, उन मुद्दों पर काम करें।

लेकिन बात जब election की हो, तो फिर competition तो होगा और जहा competition होगा, वहाँ कुछ दिखावा तो जरूर होगा। कई तरीके के भाषण, बड़े-बड़े वादें भी किये जायेंगे। वैसे सब लोगों को पाता होता हैं कि, ये सारी चुनावी जुमलेबाजी हि हैं। पर किसी ना किसी पर तो trust करके, हमें वोटिंग करनी होती हैं।

हम अपने मर्जी से वोट तो कर सकते हैं, पर हमारे विभाग में किस पार्टी से कौनसा candidate चुनाव लड़ेगा ये हमारे बस में नहीं होता। ये तो, जो leadership दिखायेगा उसपर और चुनावी parties पर depend करता हैं।

कभी-कभी ऐसा होता हैं कि, हमारे विभाग में जितने भी candidate चुनाव के खड़े होते हैं। उनमे से कोई भी हमें personally पसंद नहीं होता। यूँ कहिये कि, हमें उनपर trust हि होता, फिर वज़ह चाहें कोई भी हो। तो फिर सवाल तो उठता है ना, कि जिस उम्मीदवार पर हमें भरोसा हि नहीं हम उस उम्मीदवार को वोट कैसे दे सकतें है।

तो इसी उलझन को सुलझाने के लिये, जनता के इस problem के solution के तौर पर EVM(electronic voting machine) में NOTA बटन का option add किया गया। पर सवाल वही है की आखिर में यह Nota kya hai ? आइये जाने।

NOTA Kya He? (Meaning of the NOTA):

नोटा क्या है ? : 

Nota ka Full Form  ” Non of the above ” है. अगर हमें चुनाव के लिये खड़े हुए candidates में से कोई भी जितने के काबिल ना लगे तो हम NOTA बटन पर click कर सकते हैं। और उन सारे candidates के खिलाफ नापसंदी दिखा सकते हैं।

लेकिन, काफी बार देखा गया हैं कि, जब ऐसी situation create होती है। तो लोग वोटिंग करने के लिये हि नहीं जाते। पर अपनी असहमती दिखाने का ये सही तरीका नहीं होता। जब हम none of the above का option choose करते हैं, तो at least एक record होता है,

government के पास और उस according, government द्वारा decisions लिये जाते हैं। वैसे India के अलावा और भी देश हैं, जो elections में इस system का use करते हैं। बस option के नाम अलग होते हैं। जैसे India में NOTA है, वैसे किसी देश में blank vote तो किसी देश में कुछ और, पर सारे देशों का अजेंडा एक ही होता है। कि, at least किसी भी category में सही पर जितनी देश की आबादी हैं, उतने votes count हो सके। लोगों का decision समझ में आ सकें।

NOTA Votes का उपयोग किस तरह किया जाता है?

आपने समझा की Nota kya hai ? आइये अब नोटा का महत्व भी समझ लेते है। अगर किसी चुनाव के नतीजें ऐसे हो कि, Nota को किसी भी अन्य candidates के तुलना में ज्यादा वोट मिले हो। तो rules ये है कि, फिर से चुनाव लिया जाये और अगर फिर भी नतीजा same रहा तो जो second last होगा, उसीको विजेता घोषित कर दिया जाये। Rules तो ये भी है कि, जो candidates NOTA से हार चुके हैं, वो फिर से चुनाव ना लढ़े, उनकी जगह दूसरे नये candidates चुनाव लढ़े।

पर अभी India में सारे states में ये rules लागु नहीं हुये है। पर कुछ states है, जो इस rules को follow करते हैं। पर ये उस particular state की जिम्मेदारी होती हैं कि, वो इस rule को लागु करें। और जनता के फैसले का सम्मान करें।

जनता की जिम्मेदारी :-

जनता की भी ये responsibility बनती हैं कि, वो इस मिले गये आजादी का गलत उपयोग ना करें। अगर सच में उन्हें लगता हैं कि, NOTA बटन पर click करने कि आवश्यकता है तो हि करें। सोच-समझकर वोट करें।

तो अब के लिये, इतना हि बस हो गया यार, election का season है, और मैं आपको और confuse नहीं करना चाहती। बस जिसपर आपको भरोसा होगा, उसीको वोट करिये, बिना किसी और कि राय लिये।

तो अब देखते है कि, 2014 में उठी मोदी लहर का असर 2019 में भी दिखाई देगा या, फिर इन 5 सालों में जनता ने ढूंढ लिया है दूसरा कोई विकल्प।

वैसे चुनावी हातकंडे तो हर पार्टी लगायेगी, पर सरकार किसकी बनेगी, ये तो जनता हि तय करेंगी। और आज-कल कि generation तो इतनी smart हैं कि, अब उनपर ना किसीके झूठे किये गये वादों का असर होता हैं। और ना ही किसीके emotional भाषणों का।

निष्कर्ष:

इस आर्टिकल का उद्देश्य बस इतना हि था, की Nota kya hai ?, Nota Ka Pura Name क्या है ? किस तरह से हम NOTA का use कर सकते हैं, अगर हमारे सामने ऐसी situation आती है कि, हम किसी पर trust ना कर पायें। तो हम अपना फैसला NOTA को वोट देकर सुना सकते हैं। पर किसी भी हालत में वोट देना जरुरी है।

हमने जाना की Nota Kya Hai? अगर हमारा एक सही वोट, किसी सच्चे candidate को जीता सकता है, तो wait किस बात का कर रहे हो guys, just go ahead and do voting, its important for our future…….

एक जागरूक नागरिक की पहचान
वोटिंग से ही होती है मेरे यार
बाद में पछताने से अच्छा, मौका मिला है,
तो कोई सही फैसला ले लो इसबार !!

कुछ अन्य जानकारिया: