बैकलिंक क्या है ये SEO के लिए क्यों जरूरी होते है

सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन (SEO) की इस दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले शब्दों में से एक “बैकलिंक” है। कई एसे ब्लॉगर्स हैं जिन्होंने हाल ही में अपना एक ब्लॉग या एक वेबसाइट शुरू की है,और वह अक्सर यह समझने के लिए संघर्ष करते हैं Google पर सर्च करते है कि “बैकलिंक” शब्द का अर्थ क्या है।

आज हम बैकलिंक क्या हैै सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन (SEO) के लिये ये कितना महत्व रखता हैं और इसे आप कैसे हसिल करे इसके बारे मे बतायेगे।

Backlinks क्या हैं (What is Backlink in Hindi)backlink

Backlinks एक प्रकार का लिंक है जो एक वेबसाइट को दूसरी वेबसाइट से मिलती है बैकलिंक Search Engine  परिणामों में वेबसाइट के प्रमुखता पर बैकलिंक्स एक बड़ा प्रभाव डालते हैं, यही कारण है कि बैकलिंक्स वेबसाइट की SEO Ranking में सुधार के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है

Search Engine परिणामों को दिखाने के के लिए कई कारकों का उपयोग करके उनकी रैंकिंग की गणना करते हैं। पर कोई भी ये नही जानता कि परिणामों को सूचीबद्ध करते समय खोज इंजन बैकलिंक्स को कितना महत्व देते हैं। हलाकि हम सब जानते हैै कि बैकलिंक्स बहुत महत्वपूर्ण हैं।

Backlinks नैचुरल होना चहिये, इसका मतलब यह है कि अपनी खुद की वेबसाइट के Backlinks को बनाने के लिये Artificial तरिको का उपयोग नहीं करना चाहिए, लिंक Relevant होना चहिये, लिंक की Quality अधिक महत्वपूर्ण है आप जोभी लिंक बनाये इसका खास खयाल रहे की वो एक अच्छे Domain Authority के हो।

उदाहरण:  एक वेबसाइट A restaurant कि हैैं और इसे वेबसाइट को B से एक बैकलिंक मिलता है जो एक food review blog or website है। यह एक मूल्यवान, नैचुरल और Relevant बैकलिंक है जिसे वेबसाइट A ने प्राप्त किया है।

बैकलिंक्स के महत्व को तो आप समझ हि गये होगे, इन मह्त्व को देखते हुवे लोग आज कल गलत तरह से अपने Website or Blog के लिये Backlinks प्राप्त करते है जैसे बैकलिंक्स खरीदना, बैकलिंक्स बेचना, बैकलिंक्स एक दुसरे से बदलना, इत्यादि इनमे से बहुत से ऐसे तरिके है जोकि Search Engine पसंद नही करता जिसके करण उनकी वेबसाइट को निष्क्रिय और दंडित कर देता हैं।

यहाँ कुछ शब्द है जो आपको पता होना चाहिए जिनको SEO मे इस्तिमाल किया जाता हैंं।

Link Juice: जब कोई वेबपेज आपके द्वारा लिखे गये किसी Post या आपकी वेबसाइट के HomePage से Link होता है यानी जुडता हैैं , तो उस लिंक को “Link Juice” पास करता है। यह लिंक जूस उस क Post को रैंकिंग मे मदद करता है, साथ हि साथ Domain Authority में भी सुधार करता है। अगर आप नही चह्ते हैं कि आपके लिंक को link Juce के द्वारा पास किया जाये तो आप इसमे No-Follow टैग का इसतमाल कर उसे रोक सकते हैं।

No-Follow Links:  जब कोई वेबसाइट किसी दुसरी वेबसाइट से लिंक करती है, लेकिन लिंक मे  No-Follow टैग मौजुद होता है, तो उस लिंक को लिंक जूस पास नहीं करता है। पेज़ कि रैंकिंग के संबंध में No-Follow लिंक किसी भी तरह से उपयोगी नहीं हैं क्योंकि वो कुछ भी योगदान नहीं करते हैं। इन No-Follow टैग का इसतमाल लोग तभी करते है जब वो चहते है कि उनकी वेबसाइट दुसरी साइट से लिंक हो पर ये Search Engine को न पता चले, कुछ जगाह पर Webmaster No-Follow टैग का इसतमाल तब करते हैं जब वो किसी Unrelevant साइट से लिंक करते हैं।

Do-Follow Link: किसी भी ब्लॉग पोस्ट और वेबसाइट में आपके द्वारा जोड़े गए सभी लिंक Do-Follow लिंक होते हैंं ये जबतक No-Follow नही होते जबतक इनमे No-follow टैग को शमिल नही किया जाता हैं, Do-Follow लिंक आपके Blog और Website के लिये हर तरह से उपयोगी होते हैंं इन लिंक को Link Juice से पास किया जाताा हैंं

Linking Root Domains: यह एक विशिष्ट डोमेन से आपके Blog or Website  में आने वाले सभी बैकलिंक्स की संख्या को प्रस्तुत करता है, अगर आपका Blog और Website किसी साइट से 10 बार लिंक हैं तो यह पर सिर्फ एक लिंक को Root Domain से लिंक माना जाता हैं।

Internal Links: एक ही Blog और Website के बहुत सारे लिंक जो उसी Blog और Website के किसी अन्य पेज़ से लिंक होते हैं इसको InterLinking या Internal Links कहते हैं।

Low-Quality Links: Low-Quality Links वो लिंक होते हैं जो किसी खराब Blog और Website से आपके Blog या Website पर आते हैं जैसे spam sites, automated sites, harvested sites, or porn sites etc. इन लिंक से आपके Blog और Website की Rank मे सुधार ना होकर उनकी Ranking को कम कर दिया जाता हैैं

Anchor Text: हाइपरलिंक के लिए यूज़् किये जाने वाले Text को हम “Anchor Text” कहते है। जब आप  किसी कीवर्ड को रैंक करने का प्रयास कर रहे हों तो Anchor Text बैकलिंक बहुत अच्छा होता है।

SEO मे बैकलिंक्स के क्या फायदे है

इससे पहले कि हम बैकलिंक्स के फायदों के बारे में बात करे आपको ये भी जानना बहुत जरूरी हैं कि पिछले कुछ सालो मे बैकलिंक्स के विषय मे बहुत सारे बदलाव हुवे है।

कुछ सालो पहले Low-Quality के Backlinks भी साइट की रैंकिग मे मदद करते थे, लेकिन जब से Google ने अपने “Penguin algorithm” को लाया है तब से Backlinking का पूरा का पूरा परिदृश्य ही बदल गया हैं, जो Low-Quality के बैकलिंक्स   कभी रैैंकिग मे मदद करते थे अब वो नुकसान भी करते हैं।

अब बहुत जरूरी हो गया हैं कि आपके Blog और Website पर High Domain Authority के लिंक हो और वो  सभी लिंक Relevant होना चहिये, उदाहरण के लिये मान ले आपकी “कपड़े” की एक साइट है और आप “Gaming” की साइट से लिंक बना रहे हैै ये लिंक किसी भी काम के नही होगे, आपको लिंक को बनाते समय ये खास खयाल रखना है के आप जोभी लिंक प्राप्त  करे, वो सभी समान Niche पर हो, Relevant लिंक होना चाहिये।

Organic Ranking मे सुधार करता हैं

बैकलिंक्स आपकी साइट को एक अच्छी सर्च इंजन रैंकिग पाने मे बहुत मदद करते हैंं इसे समझने के लिये हम एक Keyword को लेगे और उसे Ahrefs’ Keywords Explorer पर देखेगे, निचे दिखाये गये SERP overview फोटो मे ये देख सकते हैंं कि अधिकांश उच्च-रैंकिंग पेज़ में बहुत सारे बैकलिंक्स हैं

Note: SERP का मतलब है सर्च इंजन रिज्लट पेज़।seo-backlink-Ahrefsअगर आपका लेख अन्य वेबसाइट या ब्लोग से लिंक प्राप्त कर रहा हैंं, तो आपका लेख स्वाभाविक रूप से में Search Engine मे उच्च रैंक करना शुरू कर देगा, यदि  ऐसा नही है तो आप को उन्हे बनाने की आवश्यकता है। आपके Post के साथ साथ होमपेज़ पर भी बैकलिंक्स होना महत्वपूर्ण है

Referral Traffic

बैकलिंक्स का एक सबसे बड़ा फयदा यह है कि वे रेफरल ट्रैफ़िक प्राप्त करने में मदद करते हैं, कोई व्यक्ति जो अन्य Blog पर कोई लेख पढ़ रहा है और वह पर उसे आपकी पोस्ट का लिंक दिखता हैं और अधिक जानकारी पाने के लिये वो उस लिंक से आपकी वेबसाइट के लेख पर आते हैं।

जब कोई व्यक्ति आपके लेख को पढ़ने के लिये आपकी साइट पर आता हैै और उसको relevant लेख मिलता है तो वह आपकी साइट पर काफी वक्त तक रूका रह्ता है जिससे User Engagement मे वृद्धि होती हैै और Bounce Rate मे भी कमी होती हैं।

बैकलिंक्स कैसे प्राप्त करे?

अब आप बैकलिंक” शब्द का अर्थ क्या है ये समझ हि गये होगे, क्योंकि यह SEO से संबंधित है और SEO मे इसका कितना मह्त्व हैंं ये भी जान गये है, अब हम बैकलिंक्स कैसे प्राप्त करे ये जानेगे.

एक महत्वपूर्ण बात जो आपको बैकलिंक के बारे मे ध्यान में रखना है वो ये कि backlinks की संख्या मायने नही रखती है, बल्कि backlinks की गुणवत्ता मायने है। 10 कम अच्छे backlinks बनाने से बेहतर हैै कि एक Hihg Quality बैकलिंक बनाया जाये।

ये वो कुछ तरिके है जिनसे आप Quality Backlinks प्राप्त कर सकते है।

  • एक अच्छा लेख लिखे
  • Guest Post को लिखना शुरू करें
  • अपने Blog और साइट को web directories मे सबमिट करें
  • अन्य Blog पर Comment करे

एक अच्छा लेख लिखे (Write Good articles)

अगर आप चाहते हैं कि लोग आपके लेख से लिंक करें, तो आपको उन्हें एक कारण देना होगा, अखिर  लोग किस लिये आपके लेख को लिंक करे, और सबसे अच्छा कारण एक अच्छा लेख है।

अगर आपका लेख दुसरो के लिये Helpful, हैं तो लोग इससे जुड़ने में प्रसन्न होंगे, और वो इससे जुडना पसंद करेगे।

आप एक अच्छा लेख कैसे लिख सकते हैं इसके लिये हमने आपके साथ कुछ  Tips share किया हैं

      • बहुत सारे लोग लेख को इस लिये पढते है तकि उनको उस लेख के जरिये उनकी समस्या का समाधान मिल सके, सुनिश्चित करें कि आप सटीक समस्या को स्पष्ट करते हैं और उन्हें सिखाते हैं कि इसे कैसे ठीक किया जाए।
      • अपने लेख को पढ़ने में आसान और सरल बनाएं, इसे संक्षिप्त, सरल वाक्यों में लिखें, फ़ॉर्मेटिंग, हेडिंग, इमेज और अन्य मल्टीमीडिया को जोड़कर लेख को अच्छा बनाएं।

गेस्ट पोस्ट को लिखना शुरू करें (Start guest blogging)

गेस्ट पोस्ट एक ऐसी रणनीति है, जिसमें आप अपने ब्लोग के बजाय दूसरे लोगों के ब्लॉग के लिए पोस्ट लिखते हैं जब आप किसी दुसरे के लिये पोस्ट लिखते हैैं तब उस ब्लोग का Owner आमतौर पर पोस्ट के अन्दर आपकी साइट पर 1-2 Do-Follow लिंक वापस करने की अनुमति देगा, जिससे आप के ब्लोग की  रैैंकिग के साथ साथ आपकी Domain Authority भी बढेेगी, लोगो को आपके Blog के बारे मे भी पता चलेगा, और अगर आपका लेख लोगो को पसंद आता हैं तो निशचित तौर पर वो आपके Blog पर आयेगे।

सबसे बडी चुनौती जो आती हैं वो ये कि कैसे हम उन Blog और Website का पता लगाये, जो हमारी Guest Post को असानी से अपनी साइट पर Publish करदे, इसके लिये आप उन Blog और Website को देखे जो पहले से हि Guest Post को अपने Blog पर Publish कर चुके हो। इन साइटों में आम तौर पर योगदानकर्ताओं के लिए एक पेज होता है जैसे “हमारे लिए लिखें” या “योगदान करें”।

ये पता करने के लिये आपको Google Search Engine पर जाना हैं आपका Keyword के साथ Guest post लिख कर उसे देखे आपको बहुत सारी एसी साइट दिखाई देगी जो Guest Post को Accept करती हैं।

आप कुछ एसी साइट को तलाश करे जो पहले से हि उस Topic को अपने ब्लोग पर Publish कर चुके ऐसे ब्लोग आपके लेख को जल्द से जल्द स्वीकार करना पसंद करेगे चुंकि वो इस विश्य मे पहले भी लिख चुके हैं इसके लिये भी आप “Ahrefs’ Content Explorer” का यूज़ कर सकते हैैं और पता कर सकते हैं कौनसी साइट आपके लेख के लिये सही हैं

अपने Blog और साइट को web directories मे सबमिट करें

web directories मे अपने Blog और Website को सबमिट करके Baclinks पाना ये एक बहुत ही असान तरिका हैैं पर आजकल यह विधि इन दिनों बहुत लोकप्रिय नहीं है क्योंकि एक “legal web directory” को खोजना आसान नहीं है। आपको उन web directories से बचना चाहिए जो आपको अपनी वेबसाइट को अपनी directories में लाने के लिए अपकी वेबसाइट पर एक बैकलिंक बनाने के लिए कहते हैं।

यदि अभी तक आप किसी भी Automatic direct submission रणनीति का उपयोग कर रहे हैं, तो तुरंत ऐसा करना बंद कर दें। Automatic Website submission आपके ब्लॉग को स्पैम के रूप में प्रदर्शित करेगा, और यह आपके Domain Authority या Search Engine से आपके ब्लॉग को पूरी तरह से हटाने के मामले में आपको बहुत महंगा पड़ सकता है।

बैकलिंक क्या है ये SEO के लिए क्यों जरूरी होते है के अलावा Domain Authority क्या है  इसे कैसे Increase करे जनना चहते है तो हमारी इस Post को देखे:domain-authority-kya-hai

अन्य वेबसाइट और ब्लोग पर टिप्पणी करे

किसी ब्लोग और वेबसाइट Comment करके उससे Backlinks को प्राप्त करना, ये आज के समय मे सबसे ज्याद यूज़ किया जाने वाला तरिका है इसमे Blogger ऐसी कुछ Blog और Website को तलाशते हैं जो High Domain Authority के साथ साथ उनके Niche से related हो।

सबसे बडी मुशकील जो सामने आती हैं कि कैसे वो ऐसी वेबसाइट और ब्लोग का पता लगाये जो कि Do-follow Backlinks के साथ High Authority के हो जिनपर comment करके Backlink प्राप्त किया जा सके इसके लिये भी आप “Ahrefs’ Tool“से असानी से पता कर सकते है,

आज आपने बैकलिंक्स के विषय मे क्या नया सिखा 

मुझे उम्मीद है कि यह लेख आपको SEO मे बैकलिंक्स का क्या महत्व हैं मूल बातें समझने में मदद करेगा , और क्यों आपको अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक्स प्राप्त करने पर काम शुरू करना चाहिए इस पर भी मदद करेगा।

क्या आप वर्तमान में अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक्स प्राप्त करने पर काम कर रहे हैं? अपने अनुभव हमें नीचे Comment Box में बताएं। अगर अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक्स प्राप्त करने पर काम कर रहे हैं और आप किसी भी तरह कि Help हमसे चाह्ते हैं तो आप हमे Comment कर पूछ सकते हैं,

आपको यह Post कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले. मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता और उत्त्सुकता को दर्शाने के लिए,

कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि WhatsApp Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये |

The Power OF Digital INDIA

2 COMMENTS

  1. Bhai please aap ye bata de ki ham back link kon si site se le, agar ap ke pass koi list ho to hmko bhi de.

  2. Thank you sir aap ne bhot ache tarike se bataya. Please aap se ek request hai hame dofollow backlinks site ki list bhi de jinse ham comments kr ke backlinks bana sake please😊

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.