TRP क्या होती है? TRP कैसे निकाला जाता है? Full Details Of TRP In Hindi.

किसी भी धारावाहिक प्रोग्राम की लोगप्रियता का अनुमान TRP द्वारा निकाला जाता है। पर क्या आप जानते है यह TRP Kya Hoti Hai ? तथा TRP Kaise Nikala Jata Hai ? (TRP Check Kaise Kare ?, TRP Full Form Kya Hai ?, अगर नही तो इस पोस्ट में हम TRP In Hindi के बारे में आसानी से समझते है। आये जाने what Is TRP In Hindi.

अनुक्रम

TRP Kya Hoti Hai ?

जिस प्रक्रिया द्वारा किसी भी धारावाहिक प्रोग्राम, (चाहे वह समाचार हो या टीवी सीरियल),कोई टीवी चॅनेल, की लोगप्रियता जाना जाता है उसे TRP कहा जाता है। TRP के माध्यम से यह जानने में आसानी होती है कि आज की दिनांक में (वर्तमान में) ऐसा कौनसा प्रोग्राम एवं चेनल है जो ज्यादा पसंद किया जा रहा है। कौनसे चेनल पर किस समय ज्यादा दर्शक रहते है। कौनसी चेनल सबसे ज्यादा समय देखा जा रहा है। उसकी लोगप्रियता कितनी है।

TRP

TRP Full Form :

TRP तीन शब्दों का एक संयुक्त रूप है। TRP का फुल फॉर्म Target Rating Point है। टीआरपी को दूसरे शब्दों Television Rating Point भी कहा जाता है।

TRP Se Fayde :

टेलीविजन जगत में टीआरपी के बहुत से फायदे है जो निम्नलिखित है।

1. TV पर अगर कोई नई सीरियल, प्रोग्राम या चेनेल नई है तो टीआरपी के माध्यम से यह आसानी से जाना जा सकता है कि इस नए प्रोग्राम को लोगो द्वारा पसंद किया जा रहा है या नही। अगर आपने देखा हो तो TV पर कई ऐसे प्रोग्राम, सीरियल है जो समय से पहले ही बंद कर दिये गए थे क्योंकि लोगो द्वारा उन्हें सराहना नही मिल रही थी।

2. डिरेक्टर तथा प्रोड्यूसर को अनुमान हो जाता है कि उनका यह नया कदम पसंद नही किया जा रहा। इसलिए वह इसको बंद कर कोई और दूसरा कदम उठा कर होनेवाले नुकसान से बच सकते है।

3. Advertising Market को अपनी विज्ञापन (Ads) टेलीविजन पर दिखाकर लोगो को लुभाना होता है। उनकी एक Ad बनाने में करोड़ो रूपये खर्च हो जाते है अब वह उस चेनल और उस समय पर विज्ञापन को दिखाये जहाँ कोई देखनेवाला ही ना हो तो क्या फायदा ? । इसलिए टीआरपी द्वारा अनुमान लगाने के बाद ही वह अपना विज्ञापन दिखाते है।

उदाहरण से समझें तो रोज रात 8:30 pm से 9:00 pm का समय तारक मेहता का उल्टा चश्मा का होता है। भारत मे यह सीरियल काफी लोगप्रिय है हर कोई इसे देखता है जो Sony Sab चेनल पर आती है। शायद आप भी इसे देखते होंगे। अब कोई कंपनी अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन दिखाने की सोच रहा है तो वह उसी समय को ज्यादा पसंद करेंगे क्योंकि एक ही विज्ञापन को ज्यादा से ज्यादा लोगो को दिखाया जाये। इसलिए वह Sony Sab का संपर्क करेंगे।

4. TRP के आधार से ही किसी भी चेनल का मूल्यांकन किया जाता है। और उनकी विज्ञापन से कमाई होती है।

हमे लगता है टीआरपी का महत्व आपको समझ आ चुका होगा। आपने आसानी से समझा टीआरपी क्या है? अब समझते है TRP Kaise Nikalate Hai या यूं कहें कि TRP Kaise Check Kare?

जाने : हवाला कारोबार क्या है और कैसे होता है?

TRP Kaise Nikala Jata Hai ? :

आपने जाना टीआरपी एक अनुमान है जिससे लोगों की लोगप्रियता को जाना जाता है कि उन्हें क्या पसंद है और कौनसे समय क्या देखना पसंद कर रहे है परंतु आखिर यह अनुमान कैसे निकाला जाता है? आये समझें How To Check TRP In Hindi.

टीआरपी को एक संस्था द्वारा निकाला जाता है जिसका नाम है ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च कॉउंसिल (Broadcast Audience Research Council) इसे शॉर्ट में BARC से भी पहचाना जाता है।

यह संस्था क्या करती है कि अपना एक छोटा सा डिवाइस सेट-टॉप बॉक्स के साथ लगा लेती है। जिससे उसे पूरा डेटा मिलता रहे कि कौन किस समय क्या देख रहा है, कितने समय देख रहा है जिससे उस घरवालो के पसंद के बारे में जाना जा सके।

इस डिवाइस को People Meter भी कहा जाता है। ऐसा हरगिज नही है कि हर सेट-टॉप बॉक्स में यह People Meter होता ही है। इसकी संख्या सिर्फ 44,000 की होती है। अब यह People Meter पूरे देश मे अलग अलग जगह में लगाये जाते है।

कुछ ग्रामीण एरिया में लगाया जाता है तो कुछ शहरी एरिया में, कुछ को ऐसी जगह लगाया जाता है जहाँ युवावर्ग (युवा-युवती) हो तो कुछ मध्यम उम्र तो कुछ वृद्ध उम्र के लोग हो। ऐसे करते हुए सभी प्रकार के धर्म, जाति, राज्य, लिंग और उम्र के बीच पहुचकर डाटा को निकाला जाता है। People Meter को लगाने के लिए सबसे पहले सर्वे किया जाता है।

अब इतना करने के बाद इस प्रक्रिया से BARC (Broadcast Audience Research Council) को एक वास्तविक अनुमान प्राप्त होता है। इस अनुमान द्वारा जिस चेनल पर सबसे ज्यादा समय लोग बिताते हैं उसको उच्च टीआरपी वाली चेनल, तथा सबसे कम वाले को कम TRP वाली चेनल माना जाता है। कभी कभी एक प्रोग्राम पर भी ज्यादा टीआरपी प्राप्त होती है।

जाने : GDP क्या होती है? GDP के फायदे

TRP Rating कैसे निकाले:

जिस चेनल एवं प्रोग्राम की टीआरपी सबसे ज्यादा होती है उसकी TRP Rating सबसे ज्यादा माना जाता है और उस का मूल्यांकन अधिक होता है मतलब की वह सबसे ज्यादा कमाई करता है। ऐसा नही है कि सबसे ज्यादा बार देखनेवाले का ही टीआरपी रेटिंग अधिक माना जायेगा पर Whatchtime भी मायने रखता है।

याने की भले कम लोग देख रहे हो पर एक ही जगह अधिक समय बिताया गया हो उसको भी TRP रेटिंग में शामिल किया जाता है। इन सभी डाटा को देखने के बाद रेटिंग के आधार पर नंबर दिया जाता है जिसे टीआरपी रेटिंग कहा जाता है।

जाने : GST क्या है? GST के प्रकार सबकुछ, आसान भाषा में

आज क्या नया सीखा :

इस लेख में आपने टीआरपी क्या है?, टीआरपी का महत्व, टीआरपी कैसे निकालते है?, टीआरपी रेटिंग को आसानी से समझा। हमे आशा है TRP की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। फिर भी आपके कोई सवाल है तो हमे जरूर कॉमेंट में लिखें। आपके सुजाव भी हमें लिखे। पोस्ट को पूरा पढ़ने हेतु दिल से धन्यवाद। आपका दिन शुभ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.