IPO Kya hai ?, IPO Kaise Kharide ?, इसमें कैसे करें निवेश ? पूरी जानकारी।

,इस पोस्ट में आप समझेंगे की IPO Kya Hai ?, IPO Kaise Kharide ?, IPO Kaise Kam Karta Hai ?, IPO Process In Hindi. आइये समझे What Is IPO In Hindi.

IPO: शेयर बाजार (Share Market) और निवेश से जुड़े तमाम ऐसे पहलू हैं जिनसे आज के समय मे अधिकतर लोग अनजान हैं। अधिकतर लोग Banking और  Insurance के बारे में अच्छी जानकारी रखते हैं। लेकिन निवेश के संबंध में ज्यादा जानकारी नहीं होती है। मसलन शेयर बाजार (Share Market), म्यूचुअल फंड, बान्ड्स, आईपीओ आदि ऐसे शब्द हैं जिनके बारे में हम सुनते जरूर हैं लेकिन ज्यादा जानकारी नहीं रखते हैं।

इन्ही में से एक है IPO, IPO Kya Hai और IPO kaise Kharide ? इसमें निवेश की क्या संभावनाए हैं, ऐसे सभी सवाल जो आपके मन में आईपीओ को लेकर हैं उसका यहां समाधान होगा और आईपीओ के बारे में आसानी से समझेंगे

साथ साथ आईपीओ कैसे काम करता हैं? और आईपीओ से कमाई कैसे करे?. इस लेख में हम IPO Full Review In Hindi मे देगे।

इससे पहले की हम जाने IPO Kya Hai ? आपको यह पता होना चाहिये कि आईपीओ का फुल फॉर्म क्या होता है। ( What Is The Full Form Of IPO)

IPO Full Form kya Hai ? – What Is The Full Form Of IPO

आईपीओ का फुल फॉर्म है Initial public offering जिसे हिंदी में सार्वजनिक प्रस्ताव कहा जाता है।

IPO Kya Hai ? – What is IPO in Hindi?

IPO Kya Hai ? के जवाब में आपको कहें कि जैसा कि आपको पता होगा, जब भी कोई कंपनी मे (कारोबार) शुरू किया जाता है तो उसको शुरु करने हेतु खूब पैसो की आवश्यकता होती है। यह पैसे सबसे पहले तो खुद के पैसो से, फिर बाद में हिस्सेदारीयों से, बैंक से लेकर Loan लेकर कंपनी शुरू होती है और कारोबार शुरू किया जाता है। वैसे तो कंपनी का कारोबार सही चल रहा होता है।

पर कंपनी अपना कारोबार बढ़ाने की सोच रही है और अब उन्हें फिर पैसो की जरूरत होगी। परंतु अब कंपनी पैसो के लिए कहाँ जाये? तब कंपनी सोचती है कि चलो यह पैसे सीधे Public से ही लिया जाये, क्योकि पब्लिक से उन्हें जितना पैसा चाहिए उससे अधिक मात्रा में मिल सकता है। और दूसरी खास बात की बैंक के मुकाबले पब्लिक को ब्याज भी नही देना पड़ेगा। और सामान्य नागरिक को भी शेयर मार्केट से पैसे कमाई कर सकते है।

जानिये : शेयर मार्केट क्या है ? शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाये?

अगर कोई कंपनी अपने Business को बढ़ाने या अन्य काम हेतु पैसो की आवश्यकता हो और सीधे सीधे सामान्य पब्लिक से पैसे लेकर उन्हे हिस्सेदारी यानी कि शेयर देते है। इससे पहले उस कंपनी को SEBI (Securities and Exchange Board of India) पर रजिस्टर होना पड़ता है। और फिर जिस प्रक्रिया में पैसे लेकर Share दिये जाते है ( शेयर की खरीदारी ) उस प्रक्रिया को आईपीओ कहाँ जाता है।

IPO Kaise Kharide ? – How to buy an IPO?

अभीतक आपने समझा कि IPO Kya Hai आइये अब समझते है कि IPO Kaise Kharide ?.

वैसे तो आईपीओ को एक जोखिम भरा निवेश (Investment) माना गया है, क्योंकि इसमें कंपनी की शेयरों के प्रगति के संबंध में कोई आंकड़े या जानकारी लोगों के पास नहीं होती है। फिर भी अगर कोई पहली बार Share Market में निवेश करता है उसके लिए आईपीओ एक बेहतर विकल्प है। अगर आपको Share Bazar में भविष्य बनाना है तो आपको आईपीओ की जानकारी होनी ही चाहिए।

आईपीओ खरीदने के लिए आपको एक ब्रोकर की जरूरत होती है। पहले तो इसके लिए दलाल या एजेंट रखना होता था पर आजकल तो आप अपने Mobile से यह काम कर सकते हैं। Groww App, Angel Broking, Zerodha, जैसी Website और Apps के माध्यम से आप अपने मोबाइल से ही यह काम आसानी से कर सकते है। अब आइये समझते है आईपीओ कैसे खरीद सकते है।

Money Laundering क्या होती है ? Money Laundering कैसे की जाती है?

IPO Kaise Kharide ?

जब भी कोई कंपनी आईपीओ निकालती है उससे पहले इसका एक एक फिक्स समय निर्धारित किया जाता है जो 4-5 दिन का होता है। उसी समय मे आपकी उसी कंपनी का आईपीओ ओपन रहता है। ऐसा नही है कि एक समय मे केवल 1 ही आईपीओ निकलता है, हो सकता एक समय मे 5 आईपीओ निकले पर आपको आपकी चुनी हुई कंपनी के आईपीओ पर क्लिक करना होगा।

अब जैसे शेयर मार्केट से हम एक, दो या अपने चुनाव से शेयर खरीदते है यहां ऐसा नही होता। यहाँ आपको कंपनी द्वारा चयन किये ( Lot ) शेयर खरीदना होगा। यह 100,150,200 या अधिक भी हो सकता है। वहाँ आपको 1 शेयर की क़ीमत भी दिखाई देती है।

>> Earnkaro क्या है ? जाने आप Earnkaro App से पैसे कैसे कमाये? 

मान लीजिए कोई xyz कंपनी ने अपना आईपीओ पब्लिक के लिए लॉन्च किया जिसकी 1 शेयर की क़ीमत 100 रुपये है और 1 Lot में 150 शेयर खरीदने है। तो आपको 100*150 =15,000 रुपये का एक आईपीओ पड़ेगा। ऐसा नही है कि आप केवल 1 लॉट ही खरीद सकते है,आप इससे अधिक भी खरीद सकते हैं। लॉट को खरीदने के पस्चात 3 या चार दिन या 10 दिन के बाद आपको Share Allotment दे दिए जाते है और यह शेयर आपके Demat Account में पहुँच जाते है।

जानिये : Cashkaro क्या है? Online Recharge, Shopping करके पैसे कमाये?

IPO Process In Hindi:

आपने जाना IPO Kya Hai ? तथा IPO Kaise Kharide ? अब आईपीओ की प्रक्रिया ( IPO Process ) को भी हम समझते है। जिसमे कुछ Steps है।

Step 1: Hire An Investment Bank : अगर कोई कंपनी अपना आईपीओ लाने के चक्कर मे है तो उसे एक इनवेस्टमेंट बैंक का सहारा लेना होता है। कंपनी यह देखती है कि यह बैंक उनके आईपीओ के लिए सही रहेगी या नही । इसलिए इन्वेस्टमेंट बैंक का रेकॉर्ड तथा बाजार से प्रदर्शन अच्छा होना चाहिये।

Step 2: Due Diligence And Filling : इस पूरी प्रक्रिया में Investment Bank कंपनी को ये यकीन दिलाती है कि आपको जितने पैसे चाहिए आईपीओ करवाने के बाद आपको मिल जायेंगे, बैंक कुछ जानकारी तथा डॉक्यूमेंट मांगती है और आईपीओ की प्रकिया आगे बढ़ाती है। इन डॉक्यूमेंट में कंपनी के बारे में पूरी जानकारी होती है।

Step 3: Pricing : अब Investment Bank कंपनी के हिस्सेदारी का मूल्य देखती है और उसके हिसाब से 1 शेयर की कीमतों को चयन करती है और यह भी देखती है कि एक लॉट में कितने शेयर को शामिल किया जाये।

Step 4: Distribution : अब बारी आती है शेयर को बांटने कि, एक बार शेयर की क़ीमत और लॉट पर फैसला होने के बाद शेयर को खरीददारी के लिए Mutual fund Invested, Market और सामान्य नागरिको को मौका दिया जाता है कि पैसे लगाये और आईपीओ की खरीदारी हो।

यह आईपीओ 3-5 दिन का होता है जिसमे शेयर खरीदे जा सकते है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद 10 दिन के अंदर अंदर यह कंपनी BSE या NSE (National Stock Exchange) पर आपको दिखाई देती है। और शेयर खरीददार के Demat Account में दिखाई देते है।

Note: कभी कभी ऐसा भी होता है ज्यादा खरीददारी की वजह से किसी को यह आईपीओ का लाभ नही मिलता तो उसके पैसे वापस उसके बैंक एकाउंट में जमा हो जाते है।

>> Canara bank में Online Bank Account Open कैसे करें ? 

ध्यान अवश्य दें (Alert): 

कई बार लोगो के पास आईपीओ कि पूरी जानकारी नही होती है जिस वजह से उन्हें बहुत बार नुकसान का सामना करना पड जाता हैं। कई बार पुराने निवेशक आईपीओ के जरिए अपने शेयर बेचते हैं, और कुछ मामलों में पुराने निवेशकों के शेयर के साथ-साथ नए शेयर भी पेश करते हैं। आईपीओ निवेशक को पुराने निवेशकों के शेयर बेचने के कारणों को जानना चाहिए। अगर आप चाहते हैं कि आप यह कारोबार अच्छे से आगे बढ़े और आपको हमेशा लाभ हो तो इस क्षेत्र में आगे बढ़ने से पहले हर छोटी से छोटी बात पर ध्यान अवश्य दें।

आज क्या नया सीखा:

इस पोस्ट के माध्यम से आपने आईपीओ के विषय मे पूरी जानकारी समझी। आपने जाना आईपीओ क्या है?, आईपीओ का फुल फॉर्म क्या है?, IPO Kaise Kharide ? हमे आशा है IPO In Hindi की यह जानकारी आपको जरूर अच्छी लगी होगी। फिर भी आपके मन मे आईपीओ से संबंधित कोई भी सवाल है, तो हमे जरूर कॉमेंट करे। हम आपके सवाल का जरूर उत्तर देंगे। आप हमे सुजाव भी दे सकते है। पोस्ट को पूरा पढ़ने हेतु आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ रहे।

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.