क्या आप जानते है की 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के रूप में क्यों बनाया जाता है ?

Valentine's Day

हम सब हर साल 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे(Valentine’s Day)के रूप में मानते है या यु कहे की 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के नाम से पहचाना जाता है। परंतु 14 फरवरी को ही वैलेंटाइन डे के अच्छे समय के दिन के रूप में क्यों चुना गया ? अगर आप भी है इसी सवाल के जवाब की तलाश में तो आप सही पोस्ट पढ़ रहे है।

वैलेंटाइन डे यह दिन केवल प्रेमियों के लिए है, और उन लोगों के लिए है जो अकेले रहते हैं। परन्तु ये दिन मना क्यों रहे है और कब से इस वैलेंटाइन डे का जन्म हुआ आपको हम इस पोस्ट में बताने जा रहे है।

सबसे पहले वेलेंटाइन डे कब मनाया गया?

आज से करीब 200 साल पहले, रोम में एक कैथोलिक पादरी था जिसका नाम “सेंट वेलेंटाइन” था, कहा जाता है की वह समय ईसाइयों का शाही निवास था। उस समय सम्राट क्लॉडियस दूसरा का शासन था। वह एक शख्त शासक था उसने ऐसा सख्त कानून बनाया था जिसमे ईसाइयों को शादी करने की अनुमति नहीं थी। इस कानून के हिसाब से कोई भी सैनिक शादी नहीं कर पाता था।

तब सम्राट क्लॉडियस ने सोचा कि अगर वे खुद शादी कर लेते हैं तो वे अपने देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी खो देंगे। लेकिन उससे पहले सेंट वेलेंटाइन ने उस कानून का उल्लंघन किया और शादी करली जिसके चलते सैनिकों ने एक के बाद एक शादी करी। अब सेंट वेलेंटाइन का नाम प्रेम के महत्व में विश्वास से लिया जाने लगा। और आज भी सेंट वेलेंटाइन को इस दिन के लिए याद किया जाता है उनके ऊपर कई कहानियां लिखी गई हैं। इसके चलते वैलेंटाइन डे का जन्म हुआ।

Valentine's Day

विभिन्न देशों अलग अलग दिन के के हिसाब से वेलेंटाइन दिवस (Valentine’s Day)मनाया जाता है दक्षिण कोरिया में 14 अप्रैल को , 14 फरवरी को ब्राजील में,  और कही पर वेलेंटाइन डे 12 जून को प्यार के दिन के रूप में मना रहे हैं, इस दिन लोग एक दूसरे को उपहार देते हैं। 12 फरवरी से फ्रांस में वेलेंटाइन डे की शहर की सड़कों की व्यवस्था की जाती है। प्यार के लिए लाल रंग को प्यार का प्रतिक माना जाता है।

इसे भी पढ़े : Kiss Day 2019 : जाने किस करने के बड़े फायदे और नुकशान।

इसके चलते भारत में भी 14 फरवरी को इस दिन को वैलेंटाइन डे(Valentine’s Day) के रूप में मनाया जाता है इस दिन प्रेमी जोड़े एकदूसरे से प्यार का इजहार करते है और उपहार भी देते है।