अमेरिका ने भारत को दी कड़ी चेतावनी अगर विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों पर की शक्ति तो प्रभावित होगी FDI

fdi e commerce

अमेरिका उद्योग जगत से जुड़े तीर समूह ने भारत में विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए नियम सख्त करने पर चिंता जताई है उसका कहना है कि अगर भारत सरकार ने इस कदम से लंबे समय में FDI उपभोक्ताओं पर नकारात्मक असर पड़ेगा

इंडियन गवर्नमेंट नेम एफडीआई की नीति में बदलाव के बाद विदेशी निवेश वाली ई कॉमर्स कंपनियों में ग्राहकों को दी जाने वाली छूट और कैशबैक जैसे ऑफर खतना हो जाएंगे फरवरी 2019 से लागू इन नियमों का सबसे ज्यादा असर फ्लिपकार्ट और अमेजॉन पर पड़ेगा

यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स की शाखा यूएएन एंड यू एस इंडिया चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष निशा देसाई बिस्वाल ने कहा है हमें डर है कि लंबे समय में अमेरिकी निवेश और इंडियन कस्टमर दोनों पर नकारात्मक असर पड़ेगा 1 फरवरी 2019 की समय सीमा बहुत कम समय है कंपनियों को नीतीश समझने और उसे लागू करने के लिए समय मिलना चाहिए जो इस नीति से नहीं मिलेगा

यूएस इंडिया स्टेटस चेक एंड पार्टनरशिप फॉर्म यूएस आई एस एफ के अध्यक्ष मुकेश आदि ने कहा के नियमों में यह बदलाव भारतीय उपभोक्ताओं के हित में नहीं है आगे ने कहा कि इस तरह नियम लागू होने से कंपनियों में गलत संदेश जाएगा