बेरोजगारी बनते जा रहा है धीरे-धीरे अभिशाप ।

Unemployment curse in india

 

भारत में सभी वर्गों के लिए बेरोजगारी Unemployment एक ऐसी समस्या हो गई है जिससे निज़ात पाना मुश्किल होता जा रहा है।आज के समय में माता पिता अपने बच्चों को उच्च्तम शिक्षा प्रदान तो करा रहे है लेकिन इसकी कोई गारंटी नहीं कि वो अपने बच्चों को एक अच्छा रोजगार प्राप्त करा सकते हैं। सरकारी विभागओ में नोकरी के लाले पड़ गए है, रिक्तियों की संख्या आवेदन करने वालों के आगे मामूली साबित हो रही हैं यही एक बहुत बड़ा कारण साबित हो रहा है।

समस्या तो इस बात की है कि राज्य सरकारे बेरोजगारी दूर करने की भरपूर कोशिश कर रही है फिर भी इस समस्या का समाधान दूर की कोड़ी नज़र आता है।अगर ऐसा ही चलता रहा तो आने वाले समय में बेरोजगारी एक अभिशाप बनती दिखाई देगी, क्योंकि आज के समय में रोजगार पाना मुश्किल हो गया है आंकडो के मुताबिक रेलवे ने ग्रुप D के रिक्त पदों के लिए 63,000 विज्ञप्ति जारी की थी जिसकी ऑनलाइन परीक्षा दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक चली, इस परीक्षा में 1.9 करोड़ आवेदन आये हुए हैं।

अब जरूरत इस बात की है कि देश के युवाओं को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार को बारीकियों से सोचना पड़ेगा अगर देश का युवा दर दर की ठोकर खाता फिरेगा तो उसका तो मनोबल वैसे ही टूट जाएगा, फिर वो देश का भविष्य कैसे बन सकता हैं।

सरकार को युवाओं के रोजगार Unemployment के लिए साधन जुटाने की आवश्यकता है जिससे उसको बेरोजगारी से निजात मिल सकती हैं।