नए साल में मुस्लिम महिलाओं के लिए आ सकती है खुशखबरी तीन तलाक खत्म हो सकता है ।

आज बीजेपी लोकसभा में तीन तलाक का बिल आई है जो बायपास करना चाहती है इस दिल से मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक जैसी कुप्रथा से मुक्ति
से मिल सकती है अगर तीन तलाक bill पास होता है तो महिलाओं का अपना एक संवैधानिक अधिकार होगा ।
ट्रिपल तलाक पर वोटिंग से पहले कांग्रेस ने वॉकआउट के समाजवादी ने भी ऑल वाकआउट आरएलटी इस्लामिक मान्यताओं पर आई हुई है इन पार्टियों का कहना है कि हमें दूसरे के धर्म में कोई कोई परिवर्तन नहीं कर सकते यह संवैधानिक नहीं है जबकि इन पार्टियों को अभी देखना चाहिए कि यह क्या संवैधानिक है जो मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन होता है और उन्हें कई प्रकार की यातनाएं सहनी पड़ती है उनमें से हलाला और तीन तलाक प्रमुख है

आज अगर लोकसभा चुनाव में तीन तलाक का बिल पास हो जाता है तो यह बीजेपी के लिए बड़ी कामयाबी होगी और कांग्रेस के लिए बड़ी हार क्योंकि कांग्रेस मुस्लिम पुरुषों को लुभाना चाहती है जबकि बीजेपी मुस्लिम बोर्ड का 50 परसेंट आबादी महिला है उसे लुभाना चाहती हैं इस पोस्ट के जरिए सभी पार्टियां अपनी राजनीति साथ नहीं है जो 2019 के चुनाव में देखा जाएगा

फिलहाल अभी तीन तलाक पर मुद्दा बहुत गर्म है और लोकसभा में वोटिंग हो रही है अगर बिल पास होता तो वे बीजेपी के लिए बड़ा मुकाम होगा और बीजेपी यह दिखा पाएगी कि वह मुस्लिम महिलाओं का ज्यादा ख्याल रखती है उनकी ज्यादा ही माहिती

अब मुस्लिम महिलाओं के पास पुरुषों के जितने अधिकार होंगे अब मैं अपनी मर्जी से शादी कर सकती हैं और ना ही उन्हें तलाक का कोई डर होगा राजनीतिक मुद्दे के लिहाज से ही सही लेकिन तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं को निजात मिल जाएगी यह उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण है शायद यही कारण है कि बीजेपी तीन तलाक पर बिल लाकर मुस्लिम महिलाओं वोटरों को लुभाना चाहती है