पीछा नहीं छोड़ रही कांग्रेस का द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर

The Accidental Prime Minister

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राजनीतिक जीवन पर बनी एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर कांग्रेस के लिए एक मुसीबत का मुद्दा बनता चला जा रहा है द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर को लेकर जिस बात का अंदेशा था वैसा ही नजारा देखने को मिल रहा है

बृहस्पतिवार को मुंबई में इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ जिसे देर रात भाजपा के ट्विटर हैंडल से कांग्रेस का नाम लिए बिना टी के कमेंट के साथ पोस्ट कर दिया गया इससे भारतीय राजनीति मैं मजे हंगामे को शुक्रवार की सुबह हवा तब मिली जब कांग्रेस के स्थापना दिवस पर पार्टी मुख्यालय पर मीडिया के सवाल पूछने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और खुद मनमोहन सिंह मीणा जवाब दिए चुपचाप आगे बढ़ गए कांग्रेस ने इस फिल्म को लोगों का ध्यान बांटने का फर्जी प्रोपेगंडा बताया को लोगों का ध्यान बांटने का फर्जी प्रोपेगंडा बताया है

11 जनवरी 2019 को रिलीज हो रही है फिल्म दो 2004 से लेकर 2009 और 8 के बीच तत्कालीन के प्राइम मिनिस्टर मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू की एक लिखी हुई किताब द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर आधारित है इसमें मनमोहन सिंह की भूमिका अनुपम खेर निभा रहा है

फिल्म का trailer ट्वीट करते हुए भाजपा ने अपने कमेंट में बताया कि कैसे एक परिवार ने 10 वर्ष तक देश को बंधक बनाकर रखा उसने सवाल उठाया क्या डॉ मनमोहन सिंह तब तक पीएम की कुर्सी पर थे जब तक उनका सियासी उत्तराधिकारी नहीं था मनमोहन सिंह की खामोशी बा कुर्सी से हटाने की योजना का भी जिक्र यह फिल्म मनमोहन सिंह के 2004 से 2014 के उनके पीएम कार्यकाल पर बनी है.

एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के 3 मिनट के ट्रेलर में सोनिया गांधी के मनमोहन सिंह के पीएम चुनने से लेकर परमाणु समझौते कश्मीर मुद्दे और यूपीए सरकार में हुए घोटालों का भी उल्लेख है ट्रेलर में दिखाया गया ऐसे मनमोहन सिंह को कुर्सी से हटा कर राहुल गांधी को पीएम बनाने की होती है इसमें दिखाया गया कि कैसे मनमोहन सिंह तमाम मुसीबतों को को खामोशी से सहते हुए दिखाया गया है