Test Tube Baby क्या होता है? टेस्ट ट्यूब बेबी कैसे किया जाता है Full Detail

कहते है ना विज्ञान में सब मुमकिन है। ऐसी ही एक प्रक्रिया जिसे Test Tube Baby से जाना जाता है जिससे बच्चे को जन्म दिया जाता है। पर क्या आप जानते है यह Test Tube Baby Kya Hoti Hai?, Test Tube Baby Kaise Hota Hai?, Test Tube Process In Hindi, अगर नही तो इस लेख द्वारा आप Test Tube Baby Ki Puri Janakari समझ जाओगे।

अनुक्रम

Test Tube Baby Kya Hai?

हर दंपति का औलाद का सपना होता है। पर दुनिया मे ऐसे कई जोड़े है जिनका यह सपना अधूरा रह जाता है। कोई ना कोई शारीरिक तकलीफ से उनको बच्चे नही हो पाते और पूरी जिंदगी एक आस में ही बीत जाती है। परंतु कहते है ना विज्ञान से सब संभव है। ऐसी ही एक प्रक्रिया जिसको Test Tube Baby के नामसे जाना जाता है। जिसे Vitro Fertilization से भी जाना जाता है। टेस्ट ट्यूब करवाने के लिए 1,00000/- से 2,50000/- लाख का कुल खर्च हो सकता है।

Test tube baby

टेस्ट ट्यूब बेबी की प्रक्रिया में कुत्रिम तरीके से बच्चे को जन्म दिया जाता है। इस प्रक्रिया में पुरुष और स्त्री को Sex या संभोग करने की कोई आवश्यकता नही है क्योंकि यह तो एक कुदरती क्रिया है। यानी कि बिना संभोग बच्चे को प्राप्त करने की प्रक्रिया को Test Tube Baby कहते है। इसके लिए डॉक्टरों की सलाह और उनके दिए गये निर्देशो का पालन करना होता है।

टेस्ट ट्यूब बेबी क्या होता है आपने समझ लिया होगा पर आपके दिमाग मे यह बात आती होगी कि इतना खर्च होने पर भी बच्चे को पाने के लिए Test Tube करवाने की क्यो जरूरत है? आये समझें विस्तार से।

Test Tube Baby क्यों?

अगर किसी दंपति को बच्चे नही रहते है तो वह डॉक्टर के पास जाते है। डॉक्टर उनकी जांच करता है और उन्हें वास्तविकता से अवगत कराते है कि कुछ दिक्कतें है। और उसके हिसाब से दवाइयां भी देता है। यह तभी होता है जब कुछ मात्रा में ही दिक्कत हो ऐसी दिक्कतें लगभग दवाइयों से ठीक हो जाती है और उन्हें बच्चे हो जाते है।

पर कुछ ऐसी दिक्कतें भी है जिन्हें देखने के बाद डॉक्टर यह कहता है कि पुरुष या स्त्री में कुछ शारीरिक तकलीफ है। जैसे कि पुरुष का वीर्य (sperm) सही मात्रा में ना होना, Sperm में शुक्राणुओं की संख्या कम होना, स्पर्म में शुक्राणुओं की पूछ ना होना आदि।

ऐसा नही की सारी दिक्कतें पुरुष में ही हो कभी कभी ऐसा भी होता है कि स्त्रियों में अंडाशय की मात्रा में अभाव होना, जिस रास्ते से पुरुष के शुक्राणु अंडाशय तक पहुचते है उस नही जिसे Folopiyn Tube कहा जाता है उसका इतना पतला होना की शुक्राणु को रास्ता ना मिले। अब जब शुक्राणु अंडाशय से मिलेगा ही नही तो गर्भ रहेगा ही नही।

आपको बतादे भारत की सबसे पहली टेस्ट ट्यूब बेबी कनुप्रिया अग्रवाल है।

कभी कभी ऐसे दंपति होते है जिनको बच्चा जल्दी चाहिये होता है और वह दवाइयां लेना पसंद नही करते तथा उनके पास निर्धारित समय होता है ऐसे दंपति जैसे की फिल्मस्टार, खिलाड़ी या आदि सेलिब्रिटी। उनका यह मानना होता है कि दवाइयों से शरीर पर प्रभाव होगा। या फिर उनके पास फ़िल्म या खेल के चक्कर मे समय ना होना। कभी कभी ऐसे सेलिब्रिटी Surrogate Mother का भी विकल्प पसंद करते है।

जाने: Character Certificate Online कैसे बनाये Full Details

Test Tube Baby Kaise Hota Hai?

टेस्ट ट्यूब बेबी कैसे होता है? या फिर यू कहें कि टेस्ट ट्यूब बेबी कैसे किया जाता है? अब आपके मन मे यह सवाल जरूर आता होगा। तो आइये जाने How To Make Test Tube Baby In Hindi.

Test Tube Baby Process के लिये डॉक्टर सही समय निकलता है जो स्त्रियों के अंडाशय बनने का समय होता है। अंडाशय बनने के बाद एक पतली पाइप को योनि के रास्ते से दाखिल किया जाता है और इसके माध्यम से अंडाशय को स्त्री के शरीर से बाहर निकाला जाता है। अंडाशय को बिलकुल उसी वातावरण में रखा जाता है जो वातावरण शरीर के अंदर होता है।

जाने:TRP क्या होती है? TRP कैसे निकाला जाता है? Full Details Of TRP In Hindi.

अब पुरुष के स्पर्म को Masterbat द्वारा निकाला जाता है और उसे अंडाशय के पास छोड़ दिया जाता है। कभी कभी अंडाशय में शुक्राणु को दाखिल भी करवाया जाता है। यह बहुत ही बारीक प्रक्रिया होती है इसके लिए Microscope की जरूरत होती है।

इस क्रिया को करने के बाद एक से दो दिनों में फिर एक बार अंडाशय को माइक्रोस्कोप द्वारा देखा जाता है कि क्या अंडाशय का फलन हुआ है या नहीं। फलन ना होने पर यह प्रक्रिया व्यर्थ साबित होती है परंतु सफल फलन के बाद अंडे को पूरा पोषण और आहार की जरूरत होती है।

अब इसके लिए वापस यह अंडा स्त्री के योनि के मार्ग द्वारा गर्भाशय में पहोंचा दिया जाता है। यह प्रक्रिया भी वैसे ही है जैसे अंडाशय निकाला गया था। अब उस स्त्री का गर्भधारण हो जाता है। उसे अब प्राकृतिक तरीके से देखभाल की जाती है और यह बच्चा 9 महीने बाद जन्म ले लेता है। और उसे Test Tube Baby कहाँ जाता है।

क्या Test Tube Baby सही है?

इस विषय को लेकर हमारे देश मे काफी भ्रम फैला हुआ है कि टेस्ट ट्यूब द्वारा जन्मा बच्चा मतलब की पराया बच्चा, किसी और का बच्चा आदि वगैरा, परंतु ऐसा नही है। इस प्रक्रिया में दंपती में से पुरूष का स्पर्म, महिला का अंडाशय और महिला के ही गर्भ का इस्तेमाल किया जाता है। बस इस प्रक्रिया में सेक्स नही हुआ होता।

कभी कभी यह प्रक्रिया Surrogate Mother द्वारा भी सम्भव है पर आखिर यह सरोगेट मदर क्या है? आइये इस Surrogate Mother In Hindi के बारे में भी समझ लेते है।

जाने: GST क्या है? GST के प्रकार सबकुछ, आसान भाषा में

Surrogate Mother Kya Hai?

Surrogate Mother मतलब की ऐसी महिलाएं जो अपनी कोख को किसी और के बच्चे के लिए 9 महीने बच्चे जन्म तक उधार देती है। इसके बदले उसे कुछ पैसे अच्छा खानपान, अच्छा रहनसहन दिया जाता है। मतलब अंडाशय और शुक्राणु दंपती के पर गर्भ किसी और महिला का।

ऐसे बड़े बड़े सेलिब्रिटी है जो अपने खेलकूद और फिल्मों के चक्कर मे दौड़भाग करते है। अब ऐसे समय अगर वह गर्भवती है तो गर्भ में पालनेवाले बच्चे पर गलत असर पड़ता है। हो सकता है गर्भ भी खोना पड़े तो ऐसे व्यक्ति चिंतामुक्त होने और गर्भ से होनेवाले नुकसान से बचने के लिए किसी अन्य महिला की कोख में अपना बच्चा रखती है।

इससे उनको ना दवाइयां लेनी है, ना तकलीफ जेलनि है और ना ही बच्चे को जन्म देने का दर्द सहन करना होता है। बस उन्हें 9 महीने बाद अपना बच्चा हाथ मे मिलता है। और वह महिला जिसे अपने बच्चे के लिये गर्भ दिया है उसे उसकी क़ीमत देकर विदा कर दिया जाता है।

आज क्या नया सीखा:

इस लेख में आपने Test Tube Baby क्या है?, टेस्ट ट्यूब कैसे होता है?, टेस्ट ट्यूब बेबी क्यो करवाया जाता है? तथा अंत मे Surrogate Mother क्या है? के विषय मे जानकारी पढ़ी। हमे लगता है कि टेस्ट ट्यूब बेबी की पूरी जानकारी आपके समझ मे आ चुकी होंगी। फिर भी इस विषय से जुड़े आपके कोई सवाल या सुजाव है तो हमे जरूर कॉमेंट करें हम इसका जरूर उत्तर देंगे। पोस्ट को पूरा पढ़ने हेतु आपका दिल से धन्यवाद। आपका दिन शुभ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.