कर्मचारियों की जान फसी स्मार्ट वॉच में।

watch

भारत में टेक्नोलॉजी का विकास बहुत तेज़ी से हो रहा है। इसी विकास क्रम में एक और चीज़ ‘वॉच‘ भी जुड़ गई है। घड़ी समय दिखाती है यह सभी जानते है परंतु घड़ी से कॉलिंग, वीडियो कॉलिंग, चैटिंग इत्यादि ना जाने क्या-क्या किया जा सकेगा यह तो खुद घड़ी का आविष्कार करने वाले पीटर हेनलेन ने भी नहीं सोचा होगा। आज घड़ी ट्रांसफॉर्म हो कर “स्मार्ट वॉच” बन चुकी है।

लखनऊ में नगर निगम आयुक्त अमित कुमार के अनुसार नगर निगम के कर्मचारियों को स्मार्ट वॉच जारी की जाएगी। यह वॉच उनके काम से खुश होकर नहीं बल्कि उन पर नज़र रखने के लिए उन्हें दी जाएगी। अमित कुमार के मुताबिक लखनऊ के निगम पार्षद और वहाँ की जनता द्वारा रोजाना शिकायतों को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। इस वॉच द्वारा सिर्फ कर्मचारियों पर ही नहीं बल्कि उनके अफसरों पर भी नज़र रखी जाएगी और उन्हें भी यह घड़ी दी जाएगी।

यह वॉच 110 वार्डों में तैनात करीब छह हज़ार कर्मचारियों पर नज़र रखने के लिए 40 अफसरों को भी दी जाएगी।आयुक्त द्वारा यह भी बताया गया है कि इसके लिए एक कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा। जहाँ से सभी पर नज़र भी रखी जाएगी।

कैसे होगी निगरानी :
• इस घड़ी में एक चिप लगी हुई होगी जिससे शरीर से उतरते ही पता चल जाएगा।
• घड़ी देने से पहले हर कर्मचारी का रेजिस्ट्रेशन किया जाएगा। जिससे उस कर्मचारी से संबंधित सभी जानकारी मिल सके।
• कंट्रोल रूम के दायरे से बाहर जाते ही कंट्रोलर को पता चल जाएगा कि कोई कर्मचारी अपने दायरे से बाहर गया है।
• काम पर आते ही सेल्फी लेकर भेजनी होगी।
• अधिकारियों द्वारा समय-समय पर वीडियो कॉलिंग से निगरानी की जाएगी।

वैसे तो यह वॉच मुफ्त में कर्मचारियों को दी जाएगी परन्तु अगर कोई कर्मचारी घड़ी को खो देता है या खराब कर देता है तो उससे 6000 रुपये का जुर्माना लिया जाएगा।