कुछ खास बाते धनु राशि वालो के लिए अखिर क्या है

धनु राशि- धनु राशि के जातक का गला, मुह और कान बड़े ,नासिका मोटे और दाँत बड़े होते है| इनके पैर के तलवे छोटे होते है आपका जीवन धार्मिक, आर्थिक आस्था,विश्वास,साहस,और दृढ़ निष्ठाओ से भरा पूरा होता है| बाते करने और बनाने में आप निपुण होते है

आप शिव या शक्ति के उपासक हो सकते है| योगसाधना से परिचित रहेंगे,आप अध्यन प्रिये ,कला प्रेमी, एकांत प्रिये,और स्वछता प्रिये है| आराम पसंद,सौंदर्य पसंद,उदार,सुहानुभूतिपूर्ण,व स्पष्ट वक्ता है|Sagittarius

विनम्र,शांत,दयालु व परोपकारी भी है| सौंदर्यपरेमी,व्यवहार कुशल,समय के पावन्द,कठिन संकट में गहराई तक सोचना की शक्ति रखते है| आप में कलाकार,शिक्षक,नेता,लेखक,क्लर्क,मैनेजर,डाइरेक्टर,होने की शक्ति भरपूर मात्रा में पाई जाती है| वेदशास्त्र ,पुराण,और धर्मो में भी आपकी रुचि होगी|

इस राशि के जातक की पित्त प्रकीर्ति होगी| कठोर सिधान्त को अपनाने और मानने वाले होगे|ऐसे जातक की मनोहारी बोली,तेजस्वी और स्थूल शरीर,चतुर और अत्यंत दुरदारसी प्रकृति के होते है|
अपने जीवन मैं कठिन परिश्रम से ख्याति प्राप्त होगी| आपको अपने लिए अर्थव्यवस्था सुधारने व विकसित करने के लिए अत्यधिक परिश्रम करना पड़ेगा|

डांस,सिंगिंग, प्रवचन,शिक्षण की आजीविका में आपकी सहायता कर सकते है|
मन व वुद्धि से काम करने वाले वुद्धिजीवी भी बन सकते है|

माता –पिता से कुछ असमानता के साथ कुछ द्वन्द हो सकता है नशीले पदार्थो का प्रायप्त सेवन आप करेंगे तो मानसिक कष्टो का सामना कर्ण पड़ेगा|धनु राशि के पुरुष अपने लक्ष्य को कभी भी ओझल नही होने देना चाहते आपका चंचल और मिलनसार स्वभाब होगा| दाम्पत्य जीवन भी कुछ हद तक दिक्कत हो सकती है| आप बाहर से ठंडे और अंदर से गरम बने हुए रहते है

आप हृदय से ईमानदार जरूर है लेकिन ये भी है की आपके जीवन मैं अनेक बार विचलित केआर देनेवाली स्थितिया आपके जीवन मैं आती रेहेंगी|
स्वामी ग्रह- गुरु
मूलांक- 3
शुभ दिन- गुरुवार
मित्र राशि- मेष,सिंह, धनु
शुभ दिशा- पूर्व
पुजनिए देवता- विष्णु