मोदी ने खेला एक और दांव जम्मू कश्मीर में 44 हज़ार करोड़ के प्रोजेक्ट्स की घोषणा करेंगे आज

इस एक दिन की दौरे पर प्रधान मंत्री तीन क्षेत्रों जम्मू , कश्मीर ओर लद्दाक का दौरा करेंगे और वहां पर विकास की एक नई नींव रखेंगे ।

ऐसा करने से प्रधान मंत्री जम्मू कश्मीर की जनता को चुनावी महीनों के चलते अपनी तरफ करना चाहते है।इस यात्रा में मोदी कुछ नए प्रोजेक्ट्स के नींव रखेंगे और कुछ का उद्घाटन भी करेंगे।

इस दौरान वे विजयपुर में रैली भी करेंगे , और वहां के पंचायती सरपंचों के साथ भी गुफ्तघु भी करेंगे। क्योंकि इस बार पार्टी के दो संसद जम्मू कश्मीर से नियुक्त किये गये है इसलिए भाजपा को यहां के लोगो को अपनी तरफ करने में कोई ज्यादा परेशानी नही होगी।

इस बार की रैली का नारा है अब की बार फिर मोदी सरकार जिससे पता चलता है कि प्रधानमंत्री ने अपना चुंकवि प्रचार करना शुरू कर दिया है।

पिछले साल भाजपा ने विधानसभा चुनाव में 25 सीटें जीती थी । और इसलिए पार्टी के ध्यान जम्मू कश्मीर की तरफ थोड़ा ज्यादा रहेगा।

विजयपुर में जहां प्रधान मंत्री की रैली है वहां करीब 75000 कुर्सियां और वाटर प्रूफ टेंट लगाया गया है जिससे रैली के दौरान कोई दिक्कत न हों । और भी सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है।

बताया जा रहा है कि एक मंच से प्रधान मंत्री रैली को सम्भोदित करेंगे और दूसरे मंच से वहां के प्रोजेक्ट्स के उद्घाटन करेंगे।

भाजपा के लोकल नेता और प्रदेश प्रशाशन इस रैली की बहुत दिन से तैयारियां कर रहें थे। उन्होंने सभी अधिकारियों के साथ मिलकर सारे पंडाल का दौरा करके वहां के हाल चाल का मुआयना किया।

पीएम के कार्यक्रम

प्रधान मंत्री लेह से होते हुए जम्मू में रैली को सम्भोदित करने के बाद कश्मीर रवाना हो जाएंगे और वहां प्रोजेक्ट का उदघाटन करेंगे

लेह में कार्यक्रम

वहां के एयरपोर्ट पर इमारत के नींव रखेंगे , लकधक में टूरिस्टों के लिए नए मार्गों का भी उद्घाटन करेंगे , कारगिल यूनिवर्सिटी का लोकापरन भी करेंगे , बिजली घर का भी उद्घाटन करेंगे।

श्रीनगर में कार्यक्रम

ग्रामीण बीपीओ योजना का उद्घाटन , कुपवाड़ा और बारामुला में रखेंगे इमारत के नींव का पत्थर , कश्मीर में भी रखेंगे नींव का पत्थर , गांदरबल में इंदौर स्टेडियम का उद्घाटन , सौभाग्य योजना के तहत हर घर बिजली योजना का उद्घाटन ,

भाजपा और नरेंद्र मोदी का ये फैसला आने वाले चुनावों में उनकी बहुत मदद कर सकता है । क्योंकि इससे फैसले से वह जम्मू कश्मीर के जनता को लुभाना चाहते है।

आपको सरकार का ये फैसला कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।