क्या भारत के लोग आलसी हो रहे हे ? ये हे कुछ मुद्दे

waste of time

क्या भारत के लोग आलसी हो रहे हे ?
                        अगर आप मुझसे ये सवाल करे तो मेरा जवाब होगा हा। भारत के लोग एक अच्छा जीवन की कामनाये तो बहोत करते हे पर ऐसी जिंदगी पाने के लिए जो काम करने पड़ते हे जो महेनत चाहिए उसमे कही चूक जाते हे। भारत में ज्यादातर लोग को ऐशोआराम की नौकरी और जिंदगी चाहिए पर उसके लिए संगर्ष करना भूल गए हे इसके चलते कई लोग उनका अच्छे से फायदा उठा लेते हे। इसका में अपने अनुभव से कहे रहा हु। ऐसा मुझे क्यों लगता हे उसके विषय में मेरा लेख पढ़े और आप ही बताये

पुरुषार्थ की कमी

                     भारत के लोगो में जीतनी सहनशीलता हे उतना ही पुरुषार्थ की कमी आती जा रही हे। याने की पूरी ताकत और इरादे के साथ काम नहीं कर पाते मुझे लगता हे जितनी महेनत वह किसी चीज को सहन करने में लगाते हे उतना अगर पुरुषार्थ करने में लगादे तो कुछ भी संभव हो सकता हे।

पैसो की कमी

INDIAN MONY कभी कभी ऐसा होता हे की इंसान में कुछ करने की इच्छा तो बहोत हे पर अपनी खुद की परिस्थिति से वह कुछ पुरुषार्थ नहीं कर पाता इसके चलते भी वह इंसान पीछे रह जाता हे। मेने ऐसे धनवान को भी देखा हे जिनके पास कुछ भी नहीं होते हुए आज अमीरो की लिस्ट शामिल हे। क्यों की उन्होंने सही समय पर सही फैसला लिया और कामियाब हुए पर ऐसे लोग भी भारत में कम मिलते हे जो सही समय पर सही फैसला लेते हे। ये भी एक आलस ही हे।

 

हमारी सामाजिक रीती

कभी इसके पीछे हमारे रीतिरिवाज ,और समाज भी इन विषयो में हमारे काम और हमारे पुरुषार्थ के रास्ते में आड़े आ जाते हे और हम जो कुछ भी करना चाहते हे या हमारी जो कोई भी ख्वाहिश हे हमें उससे मुँह मोड़ना पड़ता हे। और इसकी  असर हमारे जीवन पर पड़ती हे और हम कुछ कर नहीं पाते। और इसके चलते कभी कभी पीछे रह जाते हे।इसलिए में ये कहूंगा की भारत के लोग अपनी सामाजिक रीती से आलसी बन रहे हे।

 

तकनीक की कमी

TECHभारत में ऐसे भी लोग हे जो भारी महेनत करते हे पर पर तकनीक  की कमी के चलते आगे नहीं बढ़ पाते और जो भी बाहरी देश के लोग तकनीक के चलते भारी महेनत ना करते हुए भी अपना विकास कर लेते हे। जिससे में ये कहे सकता हु की भारत के लोग तकनीक के मामले में आलसी हो रहे हे।

अंधविश्वास

अंधविश्वास 

 भारत जैसे देश में अभी तक अन्धविश्वास  पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुआ आयेदिन रोज नए नए बाबा के कारनामे सामने आ रहे हे। इंसान अपने अंधविश्वास के चलते कुछ कर नहीं सकेगा इस लिए कभी कभी अंधविश्वास भी भारत के लोगो को आलसी बना देता हे।

 

समय का सही उपयोग न करना

DURATION

ये भी एक खास मुदा हे की भारत के लोग समय का सही उपयोग करना नहीं जानते। इंसान का कुछ करने की उमर होती हे २० से ४० अगर ये अनमोल समय अगर हमारे हाथ से चला गया तो कभी वापस नहीं आता और ये समय में लोग अपना समय ज्यादातर फेसबुक  वाट्सएप्प पर बिता देते हे और अपने लिए तो कुछ नहीं करते पर फेसबुक और वाट्सएप्प वाले को तो कमा कमा कर दे देंगे पर अपने हाथ खाली रहे जायेंगे और अपना  समय भी व्यर्थ कर लेंगे और साथ साथ आलसी भी हो जाते हे।
                   तो ये हे प्रमुख कारण जिसके लिए भारत के लोग कुछ कर नहीं पाते और एक आलस अपनी सोच में भर देते हे असल में भारत के लोग अपनी सोच से आलसी हे तो आपकी सोच क्या हे जरूर बताये

Leave a Reply