भारत में मध्यम वर्ग नागरिक अंग्रेजी माध्यम विद्यालय से वंचित है

today my india

आज हम शिक्षा की बात करेंगे की क्यों भारत के मध्यम वर्ग परिवार शिक्षा से वंचित क्यों हे ,क्या क्या कारण हे जो पुरे भारत में क्यों एक गरीब या मध्यम वर्ग शिक्षा में मामले में पिछड़ता दिख रहा हे।

पुरे महाराष्ट्र में इंग्लिश माध्यम के सर्वे के अनुसार हो रहे व्यवहार को देखकर यह तय किया जा सकता कि ९०% शाळा किसी पोलिटिकल नेताओ कि है या कोई बढे संस्थाओ कि है ,और इन जागह शिक्षण लेना माध्यम वर्गीय बचोकी हैसियत नही है बल्की शिक्षण इतना महंगा कभी नहीं हुआ है | डोनेशन के नाम पर लिया जाने वाला पैसा बच्चोकी पढाई और फैसिलिटी के लिए नहीं होता बल्कि कॉलेज या इंस्टिट्यूट चलाने वाले लोगों की जेबे भरता है |

आरक्षण के नाम पर एडमिशन देने वाले कुछ लोग तोह उसमे भी गैर व्यव्हार कर पैसा एटते है , इन सब से यही प्रतीत होता है की भारत में जो शिक्षण व्यवस्था का काम चल रहा है वह बड़ा ही घिनोना है | वैसे तो माना जाता है की पुणे विद्येचे माहेरघर है और यहाँ पर भी लोग गैर व्यव्हार से पैसा एटते है |