इस वैज्ञानिक ने किया मृत शरीर को जिन्दा। साइंस या चमत्कार ?

successful experiment of life return.

इस वैज्ञानिक ने किया मरे हुए को जिन्दा। साइंस या चमत्कार ?

नमस्कार दोस्तों, आज के युग में जिंदगी का बहुत मोल है पर जैसा की आप सब जानते है कि पहले के युग के तौर पर देखा जाये तो हमारी जिंदगी दिन प्रति दिन बहुत ही मुश्किल हुई जा रही है क्योंकि आज कल के दौड़ बाढ़ की जिंदगी में कब कहा क्या हो जाये कुछ भी खा नही जा सकता। जीना तो हर कोई चाहता है आज के युग में हर कोई मौत से डरता है। उसको अपनी और अपनी परिजनों की फ़िक्र लगी रहती हे की कहि कुछ गलत न हो जाये और कहि कोई भयंकर बीमारी न हो जाये जसिकी वजह से उसे उस व्यक्ति को खोना पड़े। पर दोस्तों साइंस हमारे युग में कितना महत्वपूर्ण होते जा रहा है उसका अंदाजा आप लगा ही सकते हैं। और विज्ञानं क्या कुछ नही कर रहा हमारी जिंदगी बचाने के लिए और भी बहुत कुछ आज हम बात करेंगे ऐसे ही किये गए एक चमत्कार के बारे मेंजिसने मरे हुए शारीर में जान डालने की कोशिश की और कामयाब भी हुआ।

 

आखिर क्यों डाला मरे शारीर में जान।

successful experiment of life return

 

जी हा दोस्तों आज हम बात करेंगे ऐसे ही एक अजीब वैज्ञानिक एक्सपेरिमेन्ट की यह एक ऐसा प्रयोग है जिसमे एक वैज्ञानिक ने प्रकृति के के नियम को चुनोती देने की कोशिश की। यह वैज्ञानिक प्रयोग बहुत ही अद्भुत और अलग प्रकार का था। जी है दोस्तों इस वैज्ञानिक प्रयोग में मरे हुए व्यक्ति को जिन्दा करने की कोशिश की गयी। इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट करने का सिर्फ यह ही लक्ष्य था।की कैसे किसी मरे हुए व्यक्ति को जिन्दा किया जा सकता है। यह वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट 1934 में USA में किया था जिसमे एक मरे हुए इंसान को जिन्दा करने की कोशिश की गयी। इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट अमेरिका में करने वाले Dr Robert E Cornish थे। इनका मानना था कि किसी भी मृत शरीर dead body में यदि खून का प्रभाव किसी भी तरह फिर से शरुआत हो जाये तो उस मरे हुए व्यक्ति के मृत शरीर को फिर से संपूर्ण रूप से जिन्दा किया जा सकता है। क्योंकि जब मौत होती है तो व्यक्ति के खून का प्रभाव रुक जाता है। जिस वजह से शरीर मृत हो जाता है।

 

कैसे हुआ ये वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट

वैज्ञानिक एस्पेरिमेन्ट के लिए उन्होंने कुछ मरे हुए पतिएंट्स को चुना । और उन मरे हुए व्यक्ति के शरीर में ADRENALINE कैमिकल नाम का इंजेक्शन दिया जिससे खून पतला हो सके। जिससे मृत शरीर में वापिस से खून का प्रभाव बढ़ सके। यह करने के बाद एक SEE SAW जैसे दिखने वाले बेड पर मरे हुए। व्यक्ति को सुलाते थे और काफी अत्यादिक तेजी से ऊपर नीचे की और हिलाया करते थे। ताकि उन मरे हुए व्यक्तियों का खून का प्रभाव वापस से शुरू हो सके।

successful experiment of life return

लेकिन ऐसा करने से कोई भी उनका लिया गया मरे हुए व्यक्ति जिन्दा नही हो सके। परंतु उसका नृश्चय बहुत ही दृढ था। फिर उन्हों यह वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट हर न मानते हुए कुत्तो पर आजमाया पर आश्चर्य की बात तो यह है कि। इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट लिए लाए गए पाँच कुत्तो में से 2 कुत्ते जिन्दा हो सके लेकिन बाकी के बचे तीन कुत्ते जिन पर यह वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट हुआ था। वह तीन कुत्ते वह वापस जिन्दा नही हो पाएDr Robert e cornish के इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट के कामयाबी के बाद वह इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट को और भी आगे ले जाना चाहते थे। लेकिन इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट को देखते हुए USA सरकार ऐसे किये जाने वाले प्रयोग पर रोक लगा दिया। क्योकि इस वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट से यह समझा गया कि किसी भी मरे हुए इंसान पर वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट करना सभ्यता के दृष्टि से अनैतिक है। और यह कार्य मरे हुए व्यक्ति के साथ की हुई क्रूरता के तौर पर देखा गया इसलिये यह और इस तरह के वैज्ञानिक एक्सपेरिमेंट को बंद कर दिया गया।

Facebook Comments