जानिए मेष राशि के बारे में विस्तार से ।

Zodiac

मेष राशि – राशियो मैं सब से पहली राशि मेष राशि है| मेष राशि का स्वामी मंगल (MARS) है| मेष राशि का चिनह भेड होता है|

सब से पहले मंगल के गुण, धरम के बारे मैं जानते है, मंगल एक क्रूर, पापी, आकरमक ,अग्निततव ,पीत प्रकृति का ग्रह(planet) है|

भाई, युद्ध, हथियार, चोर, खून, ऑपरेशन, इत्यादि मंगल ग्राह के कारक है|

मंगल खराब होने से ऑपरेशन, ब्लड से संबन्धित बीमारिया, दुर्घटना,चोट का समस्या होते रहती है|

मेष राशि वाले लोगो मैं जल्दबाज़ी की आदत देखि गयी है, वो किसी भी काम को जोश के साथ शुरू करते है और उसे बीच मैं छोड़ देना इस राशि वाले लोग की आदत होती है|

इस राशि वाले लोग का शरीर न तो ज्यादा मोटे होते है और न ज्यादा पतले|

मेष राशि अग्निततव राशि है इसलिए इनसे प्रभभित वाले लोग गुस्से और आवेग मैं जल्दी आ जाते है|

यदि मंगल अशुभ प्रभाव मैं हो तो जातक जिद्दी भी होता है|

मेष राशि वाले लोग सेना ,पुलिस ,इंजीन्यरिंग ,मीनिंग ,मैनेजमेंट सैक्टर इनलोगों के लिए अच साबित होता है| अगर मंगल ग्रह अछि स्थिति मैं हो तो जातक प्रससनिक सैक्टर मैं भी जा सकता है|

मंगल से ही किसी की कुण्डली मैं यह देखा जाता है की किसी की कुण्डली मांगलिक दोष है या नही, अगर किसी की कुण्डली मैं मंगल 1,4,7,8,12 घर मैं होता है तो वो मांगलिक दोष मैं आता है|

मंगल मकर राशि मैं उच (हाइ पावर) मैं होता है|

मेष राशि के अनुकूल देवता- हनुमान जी, दुर्गा माँ,सूर्य देवता

अनुकूल दिन- रविबार, गुरूवार, सोमवार

अनुकूल रंग- लाल, पीला, सफ़ेद

अनुकूल दिशा- पूर्व

अनुकूल ग्रह- मंगल, गुरु, सूर्य, चन्द्र

अनुकूल राशिया- सिंह , धनु, कर्क।