मध्यप्रदेश के सागर जिले से सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के बेटे को sc/st एक्ट मे भेजा गया जेल

laxminarayan yadav s son

MP के सागर से BJP सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के बेटे को SC/ST एक्ट में भेजा गया जेल, संसद में इन्होने बजाई थी तालियाँ

बीजेपी ने SC/ST एक्ट पर अध्यादेश लाया, अब जिस NDA के साथी ने दबाव बनाया था, रामविलास पासवान, वो ही अब बीजेपी से अलग होने के लिए चटपटा रहा है, इतना ही नहीं बीजेपी को SC/ST बहुल सीटों पर राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ में कोई कामयाबी भी नहीं मिली, और अब बीजेपी के नेताओं के रिश्तेदार ही नापे जाने लगे है

जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए केंद्र सरकार ने अध्यादेश जारी किया था जब भारतीय जनता पार्टी के सांसद संसद भवन में तालियाँ बजा रहे थे. देशभर में इस एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे थे तथा मांग की जा रही थी कि इस एक्ट के तहत के बिना जांच के गिरफ्तारी के प्रावधान को बदला जाए.

लेकिन केंद्र सरकार ने जनभावनाओं को कुचलते हुए अध्यादेश जारी कर दिया. मध्य प्रदेश के सागर से भारतीय जनता पार्टी के सांसद लक्ष्मीनारायण यादव भी उनमें से एक थे जिन्होंने SCST पर लाये गये अध्यादेश के समय संसद में तालियाँ बजाई थी तथा अध्यादेश को बेहद क्रांतिकारी बताया था.

लेकिन अब SCST पर लाया गया अध्यादेश खुद भाजपा सांसद लक्ष्मीनारायण चौधरी पर भारी पड़ गया है जब उनके बेटे तथा सुरखी विधानसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी रहे सुधीर यादव को SCST एक्ट में जेल भेज दिया गया है.

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान एक स्थानीय व्यक्ति ने सुधीर के ख़िलाफ जातिगत अपमान की शिकायत दर्ज करायी थी. सागर से भाजपा सांसद लक्ष्मी नारायण यादव के बेटे सुधीर यादव हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में सागर की सुरखी विधान सभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी थे.

हाालंकि वो चुनाव हार गए. उन्हें कांग्रेस के गोविंद राजपूत ने हराया. दीपेश नाम के शख़्स ने उनके ख़िलाफ जातिगत अपमान की शिकायत दर्ज करायी थी.

एसपी से भी इसकी शिकायत की गयी थी. उसके बाद सुधीर यादव के ख़िलाफ 29 नवंबर को केस दर्ज किया गया था.

इस केस में सुधीर यादव मंगलवार को कोर्ट में पेश हुए जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया. अपने बेटे के जेल जाने से निराश सांसद लक्ष्मीनारायण ने कहा कि अब और क्या कहूं. उस समय सरकार दबाव में थी तथा अतिवादी होते हुए यह बिल पास कर दिया. खैर, मैं अब सरकार के सामने इस बिल को लेकर उपजी स्थितियों को रखूंगा.