सवर्ण आरक्षण अध्यादेश पर लोकसभा में बहस जारी ।

General Reservation

सवर्ण आरक्षण अध्यादेश पर लोकसभा में इस समय बहस जारी है सरकार सवर्ण समाज के लिए 10% आरक्षण अध्यादेश लाई है इस अध्यादेश से निचले तबके सवर्णों को फायदा मिलेगा फायदा उन्हें ही मिलेगा जिनकी वार्षिक आय ₹800000 से कम होगी

सवर्ण समाज के आरक्षण अध्यादेश के जरिए सरकार लोकसभा चुनाव से पहले सवर्ण समाज को यह दिखाना चाहती है कि स्वर्ण समाज के बारे में जितना भाजपा सोचती है इससे ज्यादा कोई भी पार्टी सवर्ण समाज के लिए नहीं सोच सकती है

इस अध्यादेश के जरिए सवर्णों को सरकारी नौकरियों में दस परसेंट आरक्षण देने का फैसला किया गया सरकार सवर्ण आरक्षण अध्यादेश लोकसभा में लाई है इस पर 5:00 बजे से बहस जारी है

अध्यादेश लाने के दौरान बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को लोकसभा में मौजूद रहने का निर्देश जारी किया था गरीब सवर्णों के लिए 10 परसेंट का आरक्षण 50 फ़ीसदी की सीमा से अलग ही होगा कल इस संशोधन को मंजूरी दी गई थी माना जा रहा है कि मोदी सरकार अपने परंपरागत सवर्ण वोट बैंक को एससी एसटी एक्ट के जरिए नाराज कर दिया था जिस को मनाने के लिए मोदी सरकार ने 10 परसेंट आरक्षण देकर उनको मनाने का प्रयास किया है एससी एसटी एक्ट से नाराज सवर्ण की याद बीजेपी को इसलिए भी आ रही है क्योंकि उसे छत्तीसगढ़ राजस्थान और मध्य प्रदेश में करारी हार झेलनी पड़ी जिसका मुख्य कारण SC ST act माना जा रहा है