डिजिटल ट्रांजेक्‍शन के नाम पर सरकारी बैंकों ने आपके अकाउंट से कमाए 10 हजार करोड़

शायद ही आपको पता होगा की  डिजिटल ट्रांजेक्‍शन के नाम पर सरकारी बैंक आपसे धोखा कर रही हैं. एक आंकडे के मुताबिक सरकारी बैंकों ने नोटबंदी के बाद से अब तक डिजिटल ट्रांजेक्‍शन के नाम पर आपसे 10 हजार करोड़ रुपये कमाई किए हैं. यह रकम बैंको ने हर ट्रांजेक्‍शन पर लगने वाले चार्ज और सेविंग अकाउंट में न्‍यूनतम बैलेंस न रखने वालों के जरिए कमाए हैं.

डिजिटल ट्रांजेक्‍शन पर संसद में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए सरकार ने बताया कि साल 2012 में एवरेज बैलेंस पर SBI चार्ज वसूले जा रहे थे ,परन्तु 31 मार्च 2016 को इस नियम को हटा दिया गया. हालांकि प्राइवेट बैंकों ने नियमों में कोई बदलाव नहीं किया गया . बाद में अप्रैल 2017 को SBI ने भी हर ट्रांजेक्‍शन पर अतिरिक्‍त चार्ज वसूलना शुरू कर दिया. जब की मिनिमम बैलेंस की रकम को जरूर कम कर दिया गया था।