आई बैंकों के लिए खुशखबरी एनपीए घटने से बैंकिंग क्षेत्र में आ रहा सुधार

RBI

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शशिकांत दास ने 31 दिसंबर को कहा है कि फंसे कर्ज की वसूली से एनपीए में गिरावट आई है और बैंकिंग क्षेत्र में बड़े सुधार हो सकते हैं लेकिन सरकारी बैंकों को अपने कामकाज का तरीका बदलना होगा

आरबीआई की आरती वार्षिक वित्तीय स्थिरता की रिपोर्ट पेश करते हुए शशिकांत दास ने कहा है कि कमजोर और संकट में फंसे बैंकों का पुनः पूंजीकरण व्यवस्था के जरिए उबारने की कोशिश जारी है गवर्नर ने कहा कि भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में लंबे समय के बाद सुधार दिखाई देने लगा है 3 वर्षों में पहली बार चालू वित्त वर्ष के सितंबर में सकल एनपीए में गिरावट दर्ज की गई है हालांकि एनपीए की राशि बहुत ज्यादा दिख रही है लेकिन आरबीआई के सुधारों का अनुपात भी लगातार बढ़ रहा है केंद्र सरकार की चालू वित्त वर्ष 41000 करोड रुपए देने की घोषणा की गई

जिसके बाद बैंकिंग क्षेत्र में और सुधार आने की संभावना है आने वाले समय में बैंकों के कर्ज वसूली में दिवालिया एवं ऋण शोधन क्षमता कानून आईबीसी काफी मददगार होगा लेकिन इसके लिए तय समय सीमा का पालन करना जरूरी होगा

आरबीआई बैंक के गवर्नर ने वित्तीय क्षेत्र में व्यापक सुधार के लिए नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों की मजबूती पर भी जोर दिया कहा कि खुदरा कर्ज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली कंपनियों को अपने जोखिम प्रबंधन पर विशेषकर ध्यान देना होगा

Facebook Comments