तो इस प्रकार अंग्रेजों ने बनाया हमें अपना गुलाम।

 

आज 15 अगस्त हम सब के बीच में कितना महत्वपूर्ण दिन है और 26 जनवरी का संविधान लिखा गया था 15 अगस्त आते ही हम लोग इतना झूम उठते हैं कि हमें कोई खुशी मिल गई इंडिया गेट पर और कई राज्य में कई शहरों में इसके कई कई प्रदर्शन किए जाते हैं स्कूल है बंद होते हैं और उन स्कूलों में स्वतंत्र दिवस की खुशी में कार्यक्रम कराया जाता है पर क्या आप जानते हैं कि वह 15 अगस्त हम इतनी खुशी का जतिन बना रहे हैं उससे पहले हमारे लिए कितने दुखदायक दिन हुआ करते थे।

 

आज भी कई लोगों के चयन में यह सवाल उठता है कि आखिर अंग्रेजों ने हमें अपना गुलाम बनाए कैसे हम कैसे उनके गुलाम बन गए हो और उनके इशारों पर हमें काम करना पड़ा अगर कोई व्यक्ति काम नहीं करना पड़ता था तो उसे कोई तकलीफ है सैनी पढ़ती थी और कई मुश्किलों से गुजरना पड़ता था british ने इतने बड़े साम्राज्य अपना गुलाम बनाया कैसे आखिर क्या थी कमियां क्या वह कमी हमारी थी इसके बारे में आज हम जानेंगे।

 

वैसे तो British सबसे पहले भारत में अपना व्यापर करने आये थे और यह व्यापर उन्होंने सूरत से शुरू किया था। उस समय में सूरत सबसे अमीर शहर हुआ करता था।भारत की चिड़िया कहे जाने वाला भारत इतना आमिर था और उस भारत के पास इतना सोना था कि भारत के नागरिकों को सोने के सिक्के तोल तोल रखने पड़ते थे। british अंग्रेजों की शासक के बहुत करीब रहने वाला एक उनका दूध भारत आया और उसने राजू जांगिड़ से भारत में व्यापार करने के लिए एक मंजूरी के लिए अंग्रेज के दूध में भारत के राज्य में निराशा से अपॉइंटमेंट लेटर पर साइन करवा लिया क्योंकि वह जानता था कि जान खीर को इंग्लिश नहीं आती और उसने असाइनमेंट साइन करवा जैसे लूटमार करके व्यापार कर सकता है।

 

ब्रिटिश जहां पर भी जाते हैं राजा का एग्रीमेंट वाला पेपर दिखा कर वहां पर लूटमार करके अपना कारोबार कर लेते और भारत की भोली-भाली जनता इस बात को समझ नहीं पाते और ऐसे करके उन्होंने 900 जहाज सोना भर भर कर वहां पर  इंग्लैंड में भेजा। पर 12 भारत  एक गद्दार के वजह से गुलाम हो गया।

 

पुराने समय में 1 रन बहुत बड़ा राज्य था उस समय बहुत अमीर विवाह करता था मां के राजा का नाम सिरोजुद्द  दौलत था। इस राजा के पास उस समय 18000 सेना के 18000 से ना थे और रोबोट के पास सिर्फ 3000 जो भारत पर कब्जा करना चाहता था परंतु रोबोट ने इस 18000 सेना को बहुत धोखे से हराया रोबोट ने राजा के सेनापति को सत्ता और लालच का लालच का पाठ पढ़ा कर धोखा दिया और उसने से कहा कि तुम सारी सेना को युद्ध लड़ने से पहले ही आत्मसमर्पण करने के लिए क्या था और यह सेनापति ने सेनाओं को वैसे ही आदेश दिया और सारे सेनाओं ने आत्मसमर्पण कर दिया जिसके बाद रोबोट ने पूरी सेना को 10 दिन तक भूखे रखा और उसके बाद उन्हें जान से मार दिया इस वजह से ब्रिटिश सरकार सत्ता में आ गई और उनका राजेश्वर चला गया गुलामी के कगार पर पहुंच गया।

 

और उसके बाद आगे क्या हुआ यह तो हम सब जानते हैं और पूरा भारत जानते हैं उसके बाद अंग्रेजों ने मारे भारत के ऊपर 200 साल तक अपना शासन की ओर भारतवासी 200 साल तक उनके गुलाम रहे हैं।