चाय पीने के नुकसान और उनसे बचने के उपाय

harmful effects of tea

एक कप चाय… इसी से होती है ज्‍यादातर भारतीय घरों में दिन की शुरुआत,आयुर्वेद के अनुसार चाय भारत जैसे देश के लोगो के लिए बनी ही नहीं है। क्योंकि भारत देश का तापमान पहले से ही गर्म है। चाय हमारे शरीर की गर्मी को बढ़ाती है। नशा चाहे शराब का हो या चाय का नशा नशा ही होता है। कोई कहता है चाय पीना ठीक है। कोई कहता है नहीं। ये एक अलग टॉपिक है। लेकिन एक बात तो पक्की है। एक या दो कप से ज्यादा चाय बिलकुल नहीं पीनी चाहिए। तो हम आज हम चाय पिने से होने वाले नुकसान के बारे में जानेगे। चाय जो चीज कभी भारत के लोगो ने कभी टेस्ट भी नहीं की थी। आज वो भारत के हर घर का हिस्सा बन चुकी है। चाय के अंदर पायी जाने वाली कैफीन नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करके। हमारी थकान को दूर करती है। हमे ऐसी ताजगी देती है। जो केवल कुछ समय के लिए रहती है। अब हमारे देश के लोगो का ये हाल हो गया कि जब भी वो थका हुआ महसूस करते है। एक कप चाय का पी लेते है। हाल ये हो जाता है कि चाय के बिना वो कुछ कर ही नहीं पाता।

चाय पीने के नुकसान

  • चाय ज्यादा पिने की वजह से बॉडी में एल्कलाइन और एसिड का बैलेंस बिगड़ जाता है।
  • चाय हमारे डाइजेसन के प्रोसेस को स्लो कर देती है। अगर खाना ही ठीक से हजम नहीं होगा तो गैस,जलन की समस्या से हमारा पूरा समय ख़राब हो जायेगा।
  • चाय हमारे शरीर में विटामिन और मिनरल्स को अब्जॉर्ब नहीं होने देती। जिसकी वजह से हम पूरा दिन थके थके रहते है। कमजोरी महसूस करते है।
  • चाय पिने से हमारी हड्डियां कमजोर होती है। जिसकी वजह से जोड़ो का दर्द,घुटनो का दर्द से लोग परेशान रहते है।
  • चाय हमारे दिल पर भी बुरा प्रभाव डालती है। चाय हार्ट-अटैक,bp,जैसी बीमारियों को बढ़ावा देती है।
  • चाय अधिक पिने से भूख मिट जाती है।
  • चाय का अधिक सेवन नींद में बाधा डालता है। हम काम करने के लिए और नींद को दूर भगाने के लिए बार-बार चाय पीते है।जिसकी वजह से नींद नहीं आती है और डीप्रेशन और चिड़चडापन हम पे हावी हो जाता है।
  • चाय पिने की वजह से हमारी याद शक्ति कमजोर हो जाती है।
  • चाय में ऑक्सीलेंट कंटेंट काफी होता है। जिसकी वजह से किडनी स्टोन का रिस्क बढ़ जाता है।
  • ज्यादा चाय पिने से बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है। यानि बॉडी में पानी की कमी हो जाती है।
  • जिन लोगो में खून की कमी है। उन्हें चाय से दूर ही रहना चाहिए। क्योंकि चाय बॉडी में आयरन को अब्जॉर्ब नहीं होने देती।

चाय को छोड़ना कोई मुश्किल काम नहीं है। ये केवल माइंडसेट है। लेकिन अगर आप चाय को छोड़ने की ठान लोगे तो ये बिलकुल भी मुश्किल नहीं है।

अगर आप चाय नहीं छोड़ सकते तो इन बातो का ध्यान जरूर रखे:-

  • अपनी चाय पिने की मात्रा दो कप तक ही सिमित रखे।
  • चायपत्ती को पानी में उबाले नहीं। बल्कि पानी को उबाल कर उसमे चायपत्ती मिलाये और कुछ देर के लिए ढक कर रख दे।
  • दूध और पानी को हमेशा अलग-अलग उबाले। चाय में दूध उबालने की वजह से। उसमे मौजूद एंटीऑक्सीडेंड नष्ट हो जाते है।
  • बहुत गर्म चाय कभी ना पिए। इससे गले और मुँह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • चाय बनाने के लिए हमेशा फ्रेश या धूले हुए बर्तन का इस्तमाल करे। दोबारा बिना धूले बर्तन का इस्तमाल करने से चाय में विषैले पदार्थ आ जाते है।
  • अगर आप एक छोटा कप चाय पीते है। तो उसे बैलेंस करने एक गिलास पानी जरूर पिए।
  • खाने के साथ या खाना खाने के बिलकुल बाद पानी ना पिए। क्योंकि यह खाने को हजम करने में बाधा डालता है।
  • जब भी चाय की तलब हो गर्म पानी पी लो। चाय की तलब ही नहीं लगेगी।
  • दूध और चीनी की मात्रा कम ही रखे। क्योंकि अगर दूध और चीनी की मात्रा अगर ज्यादा होगी। तो चाय भारी हो जाएगी और आपका वजन तेजी बढ़ेगा।

Comment me...

DMCA.com Protection Status