वित्त मंत्री अरुण जेटली का बड़ा खुलासा पैसे डूबने के लिए बैंकों के 6000 से ज्यादा अफसर जिम्मेदार

arun jaitaly GST

कहां पैसे डूबने के लिए बैंकों के 6000 से ज्यादा अफसर जिम्मेदार

राष्ट्रीय कृत बैंकों की रकम डूबने के लिए जिम्मेदार 6000 से ज्यादा अफसरों पर बर्खास्तगी अनिवार्य सेवानिवृत्ति डिमोशन की कार्यवाही की गई है

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा में बताया कि वित्त वर्ष 2017 18 में 6049 अफसरों को कर्ज देने में जो करने का दोषी ठहराया गया जिसके चलते एनपीए हुआ पर जुर्माने भी लगाए गए हैं एनपीए राशि के आधार पर सभी मामलों में सीबीआई व पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है

वहीं केंद्रीय मंत्री वित्त राज्य मंत्री शिव प्रसाद शुक्ला ने बताया है कि सरकार सरकारी बैंकों के 25 करोड़ से अधिक बकाया वाले किसी भी कर खाते को जून 2014 के बाद एवरग्रीन घोषित नहीं किया गया जो बेकर्स की पहचान में पारदर्शिता बरतने के कारण सभी वाणिज्यिक बैंकों का एनपीए 2016 के मार्च अंत तक 5 पॉइंट 6600000 करोड रुपए से बढ़कर 2018 के मार्च अंत तक 9 पॉइंट 6 2 लाख करोड़ पहुंच गया इसके बाद यह रकम घटकर 9 पॉइंट 4300000 करोड हो गई

शुक्ला ने बताया कि सरकारी बैंकों ने चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही 713 करोड रुपए की रिकॉर्ड रिकवरी की है यह आंकड़ा बस की समान अवधि की तुलना में 2 गुना है