डिप्रेशन की वजह से हुई एक्टर महेश आनंद की मौत,जानिए क्या थी डिप्रेशन की मुख्य वजह।

mahesh anand

महेश आनंद ,90 के दसक के विलन की भूमिका में प्रमुखता से नजर आनेवाला नाम जिन्होंने अनेक कामियाब फिल्मो में विलन की भूमिका निभायी और बड़े कामियाब विलन भी रहे उनकी बहु चर्चित फिल्मो की बात करे तो अमिताभ बच्चन के साथ शहंशाह और स्वर्ग फिल्म में काम किया था। इसके आलावा मजबूर ,थानेदार,विश्वात्मा,गुमराह,खुद्दार ,तेताजबादशाह ,कुली नम्बर 1 ,क्रांतिवीर,और विजेता जैसी दमदार फिल्मो में अपने मजबूत कद और भारी शरीर के साथ एक विलन की भूमिका निभायी थी।

सूत्रों से पता चला की पिछले काफी दिनों से महेश मुंबई के वर्सोवा में अपने फ्लैट में अकेले रहते थे,उनकी पत्नी सन 2002 में ही उनसे अलग हो चुकी थी पिछले दो दिनों से महेश फ्लैट में बहार नजर नहीं आये ना उनके मकान के घंटी का जवाब दिया तो आसपास के लोगो ने महेश की बहन को इसकी खबर दी गयी। उनकी बहन जब पुलिस के साथ उनके फ्लैट के अंदर दाखिल हुई तो वहा महेश की लाश पड़ी मिली और साथ में शराब का ग्लास भी मिला यानि की महेश दो दिन पहले ही दुनिया की अलविदा कर चुके थे।

पिछले 18 साल से महेश के पास कोई काम नहीं था इसके चलते महेश डिप्रेशन में चले गए थे। इससे उन्हें शराब पीने की लत लग चुकी थी। अंतिम बार महेश पहलाज नहलानी की फिल्म रंगीला राजा में नजर आये थे। पिछले दिनों एक इंटरव्यू में महेश ने कहा की उन्हें फिल्मे नहीं मिल रही और उनको आजीविका चलाने के लिए उन्हें व्रेस्टलिंग मैच में काम करना पड़ रहा है। पहलाज नहलानी ने महेश को उनकी फिल्म में छह मिनिट का रोल दिया था जिसके महेश काफी शुक्रगुजार थे।

महेश ने कहना था की उन्होंने फ़िल्मी जगत के काफी नामचीन लोगो के साथ काम किया पर उन सभी ने भुला दिया। काम ना मिलने से महेश डिप्रेशन में थे जिससे उन्हें शराब की लत लग गयी। उनके दोस्तों तथा फ़िल्मी साथी ने उन्हें महेश को शराब छोड़ने के लिए कहा पर महेशने उनकी एक ना सुनी।

इसे भी पढ़े : शाहरुख़ खान और अक्षय कुमार, आखिर क्यों नहीं दिखाई देते फिल्मों में एक साथ