हाई ब्‍लड प्रेशर  को काबू करने के प्रभावशाली उपाये, इन चीजो का करे इस्तिमाल

high blood pressure

मशीनों पर बढ़ती निर्भरता ने बेशक हमारी जिंदगी को आसान बना दिया है, लेकिन इससे हमें कई बीमारियां भी मिली हैं। उच्‍च रक्‍तचाप इनमें से एक है। यह बीमारी भले ही छोटी लगती हो, लेकिन हृदयाघात और अन्‍य हृदय रोग होने का यह प्रमुख कारण है। ऐसे में जरूरी है कि उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित रखा जाए। आइए जानते हैं कुछ ऐसे घरेलू उपाय जो आपके रक्‍त चाप को संतुलित और नियंत्रित रखते हैं।

सामान्‍य लक्षण के हाई ब्‍लड प्रेशर 

हाई ब्लड प्रेशर में सिर घूमने लगता है। रोगी का किसी काम में मन नहीं लगता , चक्कर आने लगते हैं,  रोगी अनिद्रा का शिकार रहता है। इस का घरेलू उपचार भी संभव है, जिनके सावधानी पूर्वक इस्तेमाल करने से बिना दवाई लिए इस भयंकर बीमारी पर नियंत्रण पाया जा सकता है। जरूरत है संयमपूर्वक नियम पालन की। आइए जानें हाई ब्लड प्रेशर के लिए घरेलू उपाय।

high-blood-pressure-in-hindi

हाई ब्लड प्रेशर के लिए घरेलू उपाय

  • हाई बी पी वालों को नमक का प्रयोग कम से कम करना चाहिए  नमक ब्लड प्रेशर बढाने वाला प्रमुख कारक है
  • लहसुन ब्लड प्रेशर ठीक करने में बहुत मददगार घरेलू उपाय है। कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित रखता है।  यह रक्त का थक्का नहीं जमने देता है।
  • हाई ब्लड प्रेशर में एक बडा चम्मच आंवले का रस और इतना ही शहद मिलाकर सुबह-शाम लेने से लाभ होता है।
  • जब कभी आप का ब्लड प्रेशर बढा हुआ हो तो आधा गिलास हल्का गर्म पानी में काली मिर्च पाउडर एक चम्मच घोलकर 2-2 घंटे के अंतराल पर पीते रहें।
  • तरबूज के बीज की गिरी तथा खसखस अलग-अलग पीसकर बराबर मात्रा में, इसका रोजाना सुबह एक चम्‍मच सेवन करें।
    • आधा गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़कर 2-2 घंटे के अंतर से पीते रहें। बढे हुए ब्लड प्रेशर को जल्दी कंट्रोल करने के लिये ये बहुत ही लाभदयक है
    • तुलसी के पत्ते तथा नीम की पत्तियों को पीसकर पानी में घोलकर खाली पेट सुबह पिएं। 15 दिन में लाभ नजर आने लगेगा।
    • हाई ब्लडप्रेशर के मरीजों के लिए पपीता भी बहुत लाभ करता है, इसे प्रतिदिन खाली पेट चबा-चबाकर खाएं।
    • नंगे पैर हरी घास पर 10-15 मिनट चलें। रोजाना चलने से ब्लड प्रेशर नार्मल हो जाता है।
    • सौंफ, जीरा, शक्‍कर तीनों बराबर मात्रा में लेकर पाउडर बना लें। एक गिलास पानी में एक चम्मच मिश्रण घोलकर सुबह-शाम पीते रहें।
    • पालक और गाजर का रस मिलाकर एक गिलास रस सुबह-शाम पीयें, लाभ होगा।
    • करेला और सहजन की फ़ली उच्च रक्त चाप-रोगी के लिये परम हितकारी हैं।
    • गेहूं व चने के आटे को बराबर मात्रा में लेकर बनाई गई रोटी खूब चबा-चबाकर खाएं, आटे से चोकर न निकालें।
    • ब्राउन चावल उपयोग में लाएं। यह उच्च रक्त चाप रोगी के लिये बहुत ही लाभदायक भोजन है।
    • प्याज और लहसुन की तरह अदरक भी काफी फायदेमंद होता है। इनसे धमनियों के आसपास की मांसपेशियों को भी आराम मिलता है जिससे उच्च रक्तचाप नीचे आ जाता है।
    • तीन ग्राम मेथीदाना पावडर सुबह-शाम पानी के साथ लें। इसे पंद्रह दिनों तक लेने से लाभ मालूम होता है।
  • याद रखें उच्‍च रक्‍तचाप हमारी सेहत के लिए बेहद खतरनाक होता है। लेकिन, रक्‍तचाप अगर सामान्‍य से कम हो, तो वह भी सेहत के लिए कम खतरनाक नहीं होता। इसलिए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह जरूर लें।