सिंह राशि के बारे में –

सिंह राशि- इस राशि का स्वामी ग्रह सूर्य होता है| ये राशियो मैं पाँचवी राशि है|

सूर्य को सभी ग्रहो का राजा माना जाता है| जनमकुंडली मैं अगर सूर्य के साथ अगर कोई ग्रह युति बनाता है तो वो ग्रह अस्त माना जाता जाता है| सूर्य की कुंडली मैं मजबूत स्थिति होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि ये आत्मबल का कारक भी है|

इस राशि से प्रभाभित लोग उदार, बफदार, मजबूत कद काठी, रौबदार आवाज़ के स्वामी होते है|

सिंह राशि के लोग कठोर मेहनत करने वाले होते है, इनलोगों को रोक टोक पसंद नही आता है| ये लोग आदेश देना जानते है और किसी का आदेश नही मानना इनकी आदत होती है| स्वभाव से ये लोग जिद्दी होते है जबर्दस्ती काम करवाना इन से बहुत मुस्किल होता है| इस राशि के लोग ज़ुबान के बहुत पक्के होते है| ये शारीरिक श्रम से ज्यादा मानसिक श्र्म ज्यादा पसंद होता है| ये अत्यधिक महताव्कांक्षी और दृढ़ निश्चयी होते है|

कार्य चाहे जो भी हो ये लोग पूरी तन्मयता के साथ करते है| अनुशासनहीनता इनलोगों को बिलकुल पसंद नही होता |

इस राशि के लोग पित और वायु विकार से ग्रसित होते है, कम खाना और ज्यादा घूमना इन्हे बहुत पसंद आता है|

ये लोग सरकारी कामो के प्रति इंका रुझान ज्यादा होता है खासकर के सरकारी उछ पद की ओर | सोने , पीतल , हीरे जावरत के बिज़नस इनके लिए बहुत अच होता है|

लगन स्वामी- सूर्य

तत्व- अग्नि

रत्न- रूबी

भाग्यशाली अंक- 2,3,9

रंग- सफ़ेद, लाल, नारंगी,गोल्डेन

दिन- रविबार

आरध्ना योग्य देवता- सूर्य देव

मित्रा ग्रह- मंगल, गुरु, चन्द्र

शत्रु ग्रह- राहू, केतू, शनि, शुक्र