वर्जनिटी टेस्ट से इनकार पर समाज से बहिष्कार, महिला को डांडिया समारोह से निकाला

virginity test
शादी की पहली रात की जानेवाली virginity test
daandiyaraas
डांडियारास

पुणे – जहां एक तरफ साइना नेहवाल और गीता फोगाट जैसी कई बेटियां पूरे विश्व में भारत का नाम रोशन कर रही हैं, वहीं दूसरी तरफ देश के कुछ हिस्सों में आज भी लड़कियों को समाज की कुरीतियों का सामना करना पड़ रहा है। पुणे के भाटनगर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। एक महिला को डांडिया में शामिल होने से सिर्फ इसलिए रोक दिया गया, क्योंकि वह अपने समुदाय के उस रिवाज का विरोध कर रही है, जिसमें शादी की रात के अगले दिन महिलाओं का वर्जिनिटी टेस्ट होता है।

wedding
wedding

आठ लोगों के खिलाफ एफआइआर

ऐश्वर्या ने पिंपरी थाने में तहरीर देकर आठ लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। सभी आरोपित जाट पंचायत के सदस्य हैं। इनके ऊपर आरोप है कि उन्होंने महिला को समुदाय से बहिष्कार करने का फरमान सुनाया। पिंपरी की डीसीपी ने कहा कि ऐश्वर्या ने शिकायत की थी कि कंजारभाट समुदाय में प्रचलित

virginity test
शादी की पहली रात की जानेवाली virginity test

कौमार्य परीक्षण का विरोध करने के कारण उन्हें दांडिया समारोह में भाग नहीं लेने दिया गया। आरोपियो के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है, इस घटना के लिए एक जांच आयोजित की जाएगी।

दो साल पहले भी उठी थी आवाज

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब किसी महिला ने इस कुरीती का विरोध किया है। इससे पहले भी दो साल पहले एक दूसरी महिला ने इसके खिलाफ कैंपेन शुरू किया था। इस कैंपेन का नाम ‘स्टॉप द वी टेस्ट’ दिया गया था।

इस घटना के बाद ऐश्वर्या ने केस दर्ज कराया था और पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया था। बाद में आरोपियों को जमानत मिल गई थी।