पुलवामा आतंकी हमले में शहीद जवानो की सख्या 44 पर पहोची।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जनपद में हुए आज धमाके में सीआरपीएफ के 42 जवान शहीद हो गए हैं शहीदों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई गई है इससे पहले उरी में सितंबर 2016 में हुए 1 आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हुए थे ठीक वैसा ही हमला शाम को 3:30 बजे हुआ जम्मू कश्मीर हाईवे पर इस्थित अवंतीपुरा के क्षेत्र में आतंकियों ने आतंकी वारदात को अंजाम दिया

आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया इस हमले के बाद जम्मू कश्मीर के कई इलाकों पर सर्च ऑपरेशन जारी कर दिए गए हैं

इस हमले की जिम्मेदारी जैस मोहम्मद ने ली है आतंकी संगठन जैसे मोहम्मद के आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया है सूत्रों द्वारा बताया जा रहा है कि आदिल अहमद डार नाम का एक आतंकी जो इस काफिले का सरगना है

उसने यह साजिश रची है आदिल पुलवामा का का पुरा इलाके का निवासी है सीआरपीएफ की 54 बटालियन के जवानों को इस हमले में निशाना बनाया गया था सूत्रों के अनुसार इस क्षेत्र में पहले हाईवे पर एक कार को खड़ा किया गया आईआईटी में ब्लास्ट किया गया और फिर सीआरपीएफ जवानों के वाहनों पर एके-47 से गोलियां चलाई गई

इस हमले में सीआरपीएफ का वाहन आईईडी ब्लास्ट की चपेट में आ जाने से क्षतिग्रस्त हो गया हमले के बाद घायल जवानों को श्रीनगर के हॉस्पिटल में रेफर किया गया और बचाव कार्य चालू कर दिया गया था आतंकियों ने जिस को टारगेट किया उस में 39 जवान सवार थे सीआरपीएफ का फिल्म 71 गाड़ियां थी इसके अलावा दर्जन घायल जवानों को अस्पताल में शिफ्ट कर उनका इलाज जारी है इसके अलावा कई जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है

इसके अलावा दुनिया भर से हमले की निंदा की जा रही है और भारत को यह आश्वासन दिया जा रहा है कि सभी राष्ट्र भारत के साथ आतंकवाद की लड़ाई के खिलाफ खड़े हुए हैं