कैसे बचाएंगे खिसकता हुआ हुआ जनाधार प्रधानमंत्री मोदी

pm modi

आजकल बीजेपी का जनाधार बहुत तेजी से घट रहा है जो कि 2019 के चुनाव को देखते हुए बीजेपी के लिए खतरे की घंटी है पांच चुनावों में यह देखने को मिला है कि बीजेपी का जनाधार बहुत तेजी से घटता जा रहा है उसे सारे राज्यों में हार का मुंह देखना पड़ा जहां उसकी सरकारें थी तो वहां के मंत्री भी हार गए इसकी कई वजह थी बीजेपी ने अपने वादों को पूरा नहीं किया यह है कारण थे कि उसका जनाधार बहुत तेजी से खिसक रहा है

अगर बीजेपी अपने वादों को पूरा करती तो शायद ऐसा ना होता लेकिन उसे अपनी सत्ता का अभिमान हो गया और उसने जनता की फिक्र करनी छोड़ दी थी तब जनता ने उसे सबक सिखाया अगर बीजेपी ने अपने वादों पर अभी भी अमल नहीं किया तो हो सकता है 2019 में प्रधानमंत्री को अपना पद गंवाना पड़े बीजेपी का जनाधार इसलिए खिसक रहा है कि उसने कई बातों पर स्थिरता नहीं दिखाई जैसे बोल राम मंदिर का मुद्दा हो या धारा 370 बांग्लादेशी घुसपैठिए हो या हर खाते में 1500000 रुपए डालने की बात बीजेपी सरकार कुछ हद तक तो काम कर रही है लेकिन जनता को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाए इसका खामियाजा उसे पांच राज्यों के चुनाव में भुगतने को मिला अगर ऐसी स्थिति रही तो यह जाना था और किसकी जाएगा 2019 को अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है

प्रधानमंत्री मोदी को जितना जल्दी हो ना हो सके कई मुद्दों पर अपना साफ-साफ तर्क देना चाहिए हिंदू के लिए सबसे ज्यादा मायने रखता है अयोध्या विवाद जिस पर हिंदू बीजेपी का पक्ष होते नजर आ रहे हैं

हिंदू के आराध्य भगवान श्री राम पर राजनीति जो बीजेपी दशकों से करती चली आ रही है पहले बीजेपी का करती थी अगर हम सत्ता में आए तो मंदिर हम बनाएंगे अब बीजेपी केंद्र और राज्य दोनों पर काबिज है अब वह कह रहे हैं कि हम सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का इंतजार करेंगे इस पर जनता की अपनी-अपनी का है कोई कहता अगर हम सुप्रीम कोर्ट का इंतजार करते हैं तो तुम्हें हम लोग देख करके क्या करते हैं और जनता के अपनी कई मुद्दे हैं

कुछ मुद्दों पर सरकार खरी उतरी है तो कुछ मुद्दों पर सरकार मुंह दिखाने के लायक नहीं है सबसे ज्यादा नाराज बीजेपी से सवर्ण है क्यों एससी एसटी एक्ट को लेकर बीजेपी से मुंह मोड़ते हुए नजर आ रहे हैं इसका कारण यह है कि बीजेपी अब अपने मूल वोटों का साथ होते हुए नजर आ रही है अगर ऐसा 2019 में हुआ तो बीजेपी बहुत बुरी तरीके से हार जाएगी इसलिए जितना हो सके उतना सरकार को चाहिए कि वह अपने वादों को पूरा करें जितना समय है उतना समय अब भी जनता के मुद्दों को पूरा करें

सबसे बड़ा हिंदुओं के लिए यह सवाल है कि अब तक हिंदुओं की राजनीति करने वाली भाजपा एससी एसटी को लेकर तो कानून बना सकती है लेकिन राम मंदिर पर क्यों नहीं इसी कारण बीजेपी का जनाधार बहुत तेजी से खिसक रहा है क्यों शायद उसके लिए एक खतरे की घंटी है