कन्या राशि के बारे में –

Zodiac

कन्या राशि – राशियो में ये छठी राशि है| कन्या राशि ही राशि चक्र का कुशल शासक है| इस कारण आपके हाथ में सत्ता की बागडौर है| बुद्धिमानी, विचारबुद्धि, और तर्कसकती ,प्रबल होती है इनहि गुणो के कारण आप समस्या और दुखी व्यक्तियों की गुथी आप आसानी से सुलझा लेते है| यह सच है की आप मैं मानवीयता बहुत शेस्ठ है| जिसके कारण आपको दूसरों को मदद करने मे संतोष मिलता है|

जीवन मे समस्या आती रहेंगी इसके लिए आपको बुध रत्न पन्ना धारण करना चाहिए| पारे से बना हुआ शिवलिंग भी पुजा स्थान में स्थापित करना चाहिए|

पूजन में भी आपकी रुचि आस्था है,इसलिए गणेश जी,या भैरव की पुजा सदैव करनी चाहिए|

कन्या राशि के लोग अधिक सरल या सीधे तो नही होते,लेकिन इंका गुस्सा या कठोरता अधिक समय के लिए नही रहता ,इस कारण अधिकांश लोग इंका फाइदा उठा लेते है|

अपने परिश्रम से धन से संतुस्टी रहेगी तभी निजी बल और यश प्राप्त होगी|

आपके शरीर में लिवर,तिल्ली,नासिक रोग,किडनी ,पीठ की हड्डी के रोग का भाय बना रहता है|

कन्या दुइवस्वभाव राशि है है अतः चर राशि की स्त्रियाँ और पुरुष के साथ आपका संबंध स्थायी नही रह सकता है| किसी पर भी भरोसा न करे नही तो आप ऐसी स्थिति में पेहुंच जाएगी की करे आप और नाम किसी और का हो जाएगा |

कन्या राशि का स्वामी बुध आपके अजीवका ,धर्म ,बिज़नस का भी अधिपति है|

आपकी आजीविका चाहे बिज़नस हो या नौकरी हो उतार चढ़ाव देखना ही पड़ेगा|

ऑडिटर, सचिव, ज्योतिषी, खजांची अकाउंटेंट के रूप में अपनी प्रतिभा का उपयोग कर सकते है|

पुरुषो की अपेक्षा इस राशि की महिलाओ को कृषि, बागवानी,पशु कल्याण,रसायन शास्त्र में रुचि होती है|

राशि स्वामी- बुध

रंग- हरा

दिन- बुधवार

रत्न- पन्ना

मूलांक- 5

मित्र राशि- कर्क , मीन, वृश्चिक